उत्तर प्रदेश सरकार कब उठाएगी अवैध नर्सिंग होमों एवं झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कदम

उत्तर प्रदेश सरकार कब उठाएगी अवैध नर्सिंग होमों एवं झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कदम
  • लाइसेंस नहीं है कोई बात नहीं, मानक पूरा नहीं कोई बात नहीं चलेगा आप का अवैध अस्पताल, जिम्मेदार कौन पीड़ित परिवार  
  • बिना लाइसेंस के चल रहे हैं राजधानी लखनऊ में तमाम क्लीनिक एवं नर्सिंग होम 
  • सीएमओ लखनऊ कुंभकरणी नींद में। अकील खान              

लखनऊ /मुस्लिम संगठनों का बढ़-चढ़कर अवैध अस्पतालों के खिलाफ मोर्चा संभालना यह जग जाहिर करता है कि मजहब चाहे जो हो इन अवैध झोलाछापों और क्लिनिको से कितने लोग त्रस्त हैं राजधानी लखनऊ का जब यह हाल है तो पूरे प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग का क्या हाल होगा यह तो ललन चौबे की मौत की सिर्फ बानगी है.

मुख्यमंत्री जनाब योगी आदित्यनाथ साहब के आवास से महज आठ दस किलोमीटर की दूरी पर ललन चौबे पुत्र स्वर्गीय राज नारायण चौबे निवासी देवा रोड मटियारी चिनहट लखनऊ अपना इलाज वहीं पर एक स्थानीय अस्पताल से करवा रहे थे सही इलाज न होने के कारण स्वर्गीय ललन चौबे की बेटी सुमन जो अपने पिता की देखभाल एवं तीमारदारी कर रही थी जब उनको यह लगा कि यहां पर मेरे पिताजी का इलाज सही नहीं हो रहा है तो लोहिया अस्पताल ले जाने के लिए डॉक्टरों से कहा लेकिन यह झोलाछाप डॉक्टरों ने पैसा कमाने की नियत से पिता को  ले जाने की अनुमति नहीं दी. 

 

जब बेटी अपने पिता स्वर्गीय ललन चौबे को जबरदस्ती लोहिया संस्थान ले जाने के लिए दबाव बनाया तो लोहिया संस्थान  के कुछ दलालों को बोलकर  ललन चौबे को लोहिया अस्पताल में भर्ती नहीं होने दिया गया उसके बाद ललन चौबे की मौत हो गई. इन्ही झोलाछाप डॉक्टरों की वजह से जिसके जिम्मेदार अस्पताल के मालिक मुस्ताक अहमद ओटी टेक्नीशियन जितेंद्र भारद्वाज मैकवेल हॉस्पिटल में कार्यरत और पार्टनर डॉ जावेद व उनकी पत्नी शमा परवीन है जो यह अस्पताल बिना लाइसेंस के चलवा रहे थे. 

इस तरह की  कई घटनाएं लखनऊ शहर के अंदर आए दिन झोलाछाप डॉक्टरों की लापरवाही एवं अवैध रूप से पैसा कमाने के चक्कर में इंसानों की जान के साथ लापरवाही एवं अवैध रूप से पैसा कमाने एवं भोले भाले गरीब इंसानों के स्वास्थ्य और शरीर के साथ खिलवाड़  कर रहे हैं. ऐसे डॉक्टरों पर अंकुश लगाना अति आवश्यक है और ललन चौबे के मौत के जिम्मेदारों खिलाफ जांच कराकर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जनाब योगी आदित्यनाथ साहब से, स्वास्थ्य  मंत्री  से स्वास्थ्य महासचिव साहब से पिछड़ा मुस्लिम मोमिन समाज संगठन उत्तर प्रदेश के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवक्ता मोहम्मद अकील खान ने मुख्यमंत्री जनाब योगी आदित्यनाथ साहब से   सुमन पुत्री ललन चौबे निवासी मटियारी चिनहट लखनऊ को न्याय दिलाने की मांग करते हैं एवं स्वर्गीय ललन चौबे की पत्नी  सोना मती एवं पुत्री सुमन को जब तक न्याय नहीं मिलता है तब तक इन झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ एवं लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ पिछड़ा मुस्लिम मोमिन समाज संगठन उत्तर प्रदेश स्वर्गीय ललन चौबे के परिवार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर संगठन खड़ा रहेगा

 

Comments