हकीकत से बेखबर है अधिशासी अधिकारी एवं अध्यक्ष

हकीकत से बेखबर है अधिशासी अधिकारी एवं अध्यक्ष

महोना लखनऊ।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की तहसील बख्शी का तालाब कि नगर पंचायत महोना अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है भारी भरकम सफाई कर्मचारियों की फौज होते हुए भी नगर पंचायत महोना के वाडो में गंदगी का साम्राज्य स्थापित है टूटी फूटी सड़कें नालियों आने जाने वाले राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ता है प्रकाश पथ राहगीरों के लिए तो लगाए गए हैं

लेकिन रात में प्रकाश पथ रोशनी नहीं बिखेरते हैं नगर पंचायत महोना में दिन में प्रकाश पथ अपनी रोशनी सड़कों पर बिखेरते हैं बदहाली का आलम यह है कि पूरी नगर पंचायत महोना की सड़क एवं नालियों ध्वस्त हो गई है लेकिन नगर पंचायत प्रशासन एवं अध्यक्ष मौन धारण किए हुए हैं जबकि सफाई नाम की कोई चीज नगर पंचायत महोना के अंदर नहीं है

जिधर निकलेंगे उधर से नालियों से बदबू और गंदगी का साम्राज्य स्थापित हो गया है क्योंकि इतनी भारी-भरकम नगर पंचायत महोना प्रशासन ने कर्मचारियों को सिर्फ खानापूर्ति के लिए रखा है कर्मचारियों से काम लेने की क्षमता नगर पंचायत महोना प्रशासन  में नहीं  है सारे के सारे कर्मचारी अपनी मर्जी के मालिक हैं जहां पर दिल चाहा वहां पर सफाई किया जहां पर नहीं चाहा वहां पर नहीं किया मोहम्मद अकील खान पूर्व सभासद सदस्य जिला योजना समिति ने कहां की आधे से ज्यादा प्रकाश पथ की लाइटें नहीं जल रही है और जो जल भी रही है

वह रात के अंधेरे में न जलकर दिन के उजाले में जलती हुई देखी जा सकती है पूर्व सभासद मोहम्मद अकील खान ने नगर विकास मंत्री नगर विकास सचिव जिलाधिकारी लखनऊ को पत्र भेजकर नगर पंचायत महोना के पूर्व अधिशासी अधिकारी एवं वर्तमान अध्यक्ष के द्वारा कराए गए विकास कार्यों की जांच एवं महोना से किशनपुर  रोड   बनाया गया सुलभ शौचालय जो शौचालय का टैंक का निर्माण घटिया किस्म का किया गया है एवं टैंक की दीवार साडे 4 इंच की बनाई गई है इसकी जांच कराने की मांग की है

 

Comments