प्रभु दोऊ चाप खंड महि डारे..देखि लोग सब भए सुखारे

प्रभु दोऊ चाप खंड महि डारे..देखि लोग सब भए सुखारे

रात भर जागे श्री राम भक्त

लखनऊ,बीकेटी-

के रूद्र नगर में आयोजित भागवत समारोह में राम भक्त श्री गोपाल दास बताते हैं प्रभु ने धनुष के दोनों टुकड़े पृथ्वी पर डाल दिए। यह देखकर सब लोग सुखी हुए।

विश्वामित्ररूपी पवित्र समुद्र में, जिसमें प्रेमरूपी सुंदर अथाह जल भरा है, बीकेटी के रुद्रनगर के आयोजित गाथा में में विश्वनाथ की पत्नी वंदना सिंह के बेटी काव्या के मुंडन समारोह में राम सीता के भक्तों का मजमा लग गया भक्त श्री गोपाल दास ने राम-सीता के भक्तों का दिल मोह लिया।

श्री गोपाल दास  राम-सीता  के विषय में बताते हुए है हैं सीता माता कुएं की पाल पर जाकर बैठ जाती हैं। एक स्त्री आई उसने रेशम की जरी की साड़ी पहन रखी थी और सोने का घड़ा ले रखा था। सीता-माता उसे देख कहती हैं कि बहन मेरा बारह वर्ष का नितनेम सुन लो।

पर वह स्त्री बोली कि मैं तुम्हारी कहानी सुनूंगीं तो मुझे घर जाने में देर हो जाएगी और मेरी सास मुझसे लड़ेगी। उसने कहानी नहीं सुनी और चली गई। उसकी रेशम जरी की साड़ी फट गई, सोने का घड़ा मिट्टी के घड़े में बदल गया।  

सास ने पूछा यह कैसे हुआ बहू ने बताया उसकी बात सुनकर अगले दिन वही साड़ी और घड़ा लेकर सास कुएं की पाल पर जाती है सास को वहीं माता सीता बैठी मिलीं तो माता सीता ने कहा कि बहन मेरी कहानी सुन लीजिए।

सास बोली कि एक बार छोड़, मैं तो चार बार कहानी सुन लूंगी.. इस प्रकार की सुनहरी गाथा में देशराज सिंह,नागेंद्र सिंह,विश्वनाथ वंदना सिंह रूद्र नगर सहित क्षेत्र की भारी संख्या में भीड़ देखने को मिली। आने वाले त्योहारों की शुभकामना देते हुए कार्यक्रम का समापन किया गया।

Comments