कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यमंत्री नदीम अशरफ जायसी ने किया सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत

 कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यमंत्री नदीम अशरफ जायसी ने किया सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत

लखनऊ /पूर्व राज्य मंत्री व पूर्व अध्यक्ष उo प्रo युवा  कांग्रेस नदीम अशरफ़ जायसी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले का स्वागत किया है।

आज माननीय सुप्रीम कोर्ट ने वर्षों से चल रहे विवादित अयोध्या मामले में अपना फैसला सुनाया है जिसका स्वागत पूर्व राज्य मंत्री नदीम अशरफ जायसी ने किया है।

उन्होंने कहा है कि जैसा कि सभी लोग यह कह रहे थे कि जो भी सुप्रीम कोर्ट का फैसला होगा वह पूरे देशवासियों के लिए सर्वोच्च होगा

तो अब जहां एक तरफ सुप्रीम फैसला आ चुका है उसके बाद भी लोग गलत बयान बाजी कर रहे हैं जो सही नहीं है सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला आने से पहले जैसा की पूरा देश कह रहा था कि फ़ैसला माना जाएगा,और सारे लोग आज भी उस पर क़ायम हैं। 

आग उगलने वाले व्यक्तिगत लाभ के लिए देश को झोंक रहे हैं फसाद में

नदीम अशरफ जायसी ने उन सभी लोगों को धन्यवाद दिया है जो इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं । और आज जो लोग फैसले के ख़िलाफ़ आग उगल रहे है वो अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए पूरे देश और ख़ासतौर पर करोड़ों कमज़ोर लोगों को फ़साद में झोंकने का काम कर रहे है।

नदीम अशरफ जायसी ने आगे कहा है कि ऐसे लोगों से बचें, अगर वो वाक़ई मुसलमानों और देश के हमदर्द हैं तो जैसे की वो चिल्ला-चिल्ला कर कहते हैं तो अल्लाह के वास्ते मुल्क में अमन चैन का माहोल बनाने में सहयोग करे। और उनकी शिक्षा और नौकरी की व्यवस्था करने में सहयोग दें।

नदीम अशरफ जायसी ने आगे कहा कि मैं पूरे देश के सारे मुसलमानों को मुबारकबाद देता हूँ की भड़काऊ मुस्लिम नेताओं को नकार दिया अशरफ जायसी ने आगे कहा कि ऐसे मुस्लिम नेताओं से सतर्क रहने की जरूरत है जो आपसी भाईचारा बिगाड़ने का काम कर रहे हैं । 

हिंदू भाइयों का शुक्रिया करते हुए सौहार्द बिगाड़ने वाले नेताओं से दूर रहने की अपील भी की

अपने हिन्दू भाइयों का भी शुक्रिया अदा करता हूँ की अमन चैन का माहौल बनाने में आज उन्होंने अग्रणी भूमिका निभाई है।वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नदीम अशरफ जायसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है और सभी देशवासियों से अपील की है कि इस फैसले का सभी को स्वागत करना चाहिए

हमारे देश की सर्वोच्च अदालत है और सर्वोच्च अदालत ने जो फैसला किया है उस फैसले का स्वागत सभी देशवासियों को करना चाहिए।उन्होंने आगे कहा कि ऐसे भड़काऊ नेताओं से सतर्क रहने की जरूरत है जो आपसी सौहार्द बिगाड़ने का काम कर रहे हैं चाहे वह मुस्लिम नेता हो या फिर वह हिंदू नेता हो। इस देश में सभी हिंदू और मुस्लिम एक है और आखिरी भाईचारा बना कर राह रहे हैं।

Comments