सोशल साइट्स के प्रयोग में बरते सावधानी,क्यों कि सावधानी हटी समझो दुर्घटना घटी

सोशल साइट्स के प्रयोग में बरते सावधानी,क्यों कि सावधानी हटी समझो दुर्घटना घटी

लख़नऊ

गौरव बाजपेयी

  • "सावधान सोशल साइट्स पर लगातार ठगी का शिकार हो रहे लोग"

सावधान यदि आप भी करते एंड्रॉयड मोबाइल का प्रयोग और कर रहे है सोशल साइट्स का प्रयोग तो एकदम हो जाइए होशियार क्यों कि सायबर क्राइम के जरिये जालसाजों ने एक नया हथखण्डा इख़्तियार किया हुआ है।

जालसाज आपके नम्बर पर व्हाट्सअप पर  सम्पर्क के जरिये बताते है कि आपकी लॉटरी निकली है, फिर कहते है कि अपनी बैंक डिटेल्स व अन्य जरूरी दस्तावेज उपरोक्त नम्बर पर भेजे जब आप डॉक्यूमेंट भेज देंगे जिसके बाद आपको एक रेजिस्ट्रेशन के लिए बताएगे ओटीपी पर 10 रु की जगह पर आपके एकाउंट से एक मोटी रकम की चपत लगा देगे जिसके बाद आपको समझ आता है कि आप ठगी का शिकार हो चुके है।

 यदि आपको कोई कॉल आती है कि आपका लकी ड्रा में इनाम निकला है या फिर लिंक पर क्लिक करे तो बहुत होशियारी दिखाते समझदारी का परिचय दे क्यों कि वो ठग हो सकते है जो आपको इनाम का प्रलोभन देकर पैसों की ठगी कर कायदे से चूँना लगाने का काम जोर-शोर से चल रहा है।

इन जालसाजों के चक्कर मे लगातार पढ़े लिखे नवयुवक तक शिकार बनते जा रहे है।नवयुवको को नॉकरी के नाम पर तो किसी को टावर  लगवाने के नाम पर ठगने का सिलसिला लगातार जारी है।उक्त प्रकरण में डॉलीगंज  हसनगंज निवासी कुलदीप बाजपेयी ने बताया कि जमीन पर टॉवर लगवाने के लिए उन्होंने गूगल साइट पर जिओ टावर कर के सर्च किया

सामने जो नम्बर मिला तो कॉल करने पर उस व्यक्ति ने सारे डॉक्यूमेंट मागे  जिसके बाद उसने 3100 रु0 का रजिस्ट्रेशन  भुगतान करने को कहा फिर भी टॉवर न लगने पर कॉल कुलदीप बाजपेयी ने कॉल  की तो उक्त जालसाज ने 11000 रु0 और जमा करने के लिए कहा लेकिन कुलदीप बाजपेयी ने 3100 रु0 तो जमा कर दिए लेकिन आर्थिक स्थिति और जालसाज़ी का शक होने के कारण 11000 रु0 जमा नही किये लेकिन 3100रु0 की ठगी का शिकार जरुर हो गए।

उक्त प्रकरण में एक और नवयुवक ने ओलेक्स पर नॉकरी का एड देखकर जालसाज के कथनानुसार 10 रु0 का भुगतान करने के  चक्कर मे अरविंद कुमार विश्वकर्मा जो कि 537बीएच/16 भरतनगर में रहते है जिनके लगभग रु 10 की जगह  2000 रु0  एकाउंट से1999रु0 कट गए वे अब दु:खी हो चक्कर काटते घूम रहे है, नॉकरी के चक्कर मे जालसाजों  की ठगी का शिकार हो गए।

इसी तरह से लगातार साईबर क्राइम का बढ़ता दायरा एव भुक्तभोगियो की पीड़ा हमे सावधान रहकर इंटरनेट प्रयोग के भी सीख देता है, जिससे हम और हमारा परिवार इन जालसाजों के चक्कर मे न पड़े और हमेशा दूर रहे व दुसरो को भी दूर रहने की नसीयत  भी जरूर दे ताकि  सभी सुरक्षित जीवन व्यतीत कर सके।

 

Comments