लखनऊ मे एक ही खाते से लिया था 56 बार गोल्ड लोन, इनकम टैक्स अफसर बनकर लगाया लाखों का चूना

लखनऊ:-

राजधानी लखनऊ में इनकम टैक्स आफीसर बनकर सराफा व्यापारियों से ठगी करने के मामले में एक युवक को गिरफ्तार कर अलीगंज पुलिस भले ही  वाहवाही लूट रही हो लेकिन पीड़ित व्यापारियों के अनुसार आरोपित ने मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी से अपने फर्जी  खाते से ही 56 बार लोन लिया था । पीड़ितों ने बैंककर्मियों की भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं। वहीं,सीओ अलीगंज दीपक कुमार सिंह का कहना है कि संबंधित बैंक की शाखाओं को नोटिस भेजा गया है।

तथा उनकी पॉलिसी के बारे में भी जानकारी मांगी गई है। कई मुख्य बिंदुओं पर भी जांच किया जा रहा है। व्यापारियों का आरोप है कि पुलिस ने गिरफ्तारी के दौरान बड़ी मात्रा में सोना बरामद करने की बात कहा था। लेकिन बाद में महज दो से तीन लाख के जेवर ही दिखाए गए। व्यापारियों ने उच्चाधिकारियों से मामले की शिकायत की है। यही नहीं पीड़ितों का कहना है कि सोना वापस न मिलने पर वह मुख्यमंत्री से मिलकर कार्रवाई की मांग करेंगे।

सीओ का कहना है कि व्यापारियों से बिल और चेक की कॉपी मांगा गया है। बैंक से पूछा गया है कि एक ही आइडी पर लोन देने की प्रक्रिया क्या है? साथ ही आरोपित ने लोन लेने के बाद रुपये वापस किए थे या नहीं। अगर आरोपित ने रुपये नहीं जमा किए थे तो क्या उसको बैंक की ओर से नोटिस भेजा गया था या नहीं । पुलिस ने इन सभी सवालों के जवाब बैंक से मांगे हैं। पुलिस के मुताबिक,बैंक की ओर से जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

लखनऊ मे एक ही खाते से लिया था 56 बार गोल्ड लोन। 

खुद को इनकम टैक्स अफसर बताकर मूलरूप से बस्ती जिले के सोनवर्षा स्थित मझौवा बाबू हरैया निवासी अजय कुमार मिश्र ने कई व्यापारियों से लाखों का सोना ठगा था। आरोपित अजय ने अपना नाम अतुल कुमार मिश्र उर्फ एके मिश्र उर्फ प्रमोद कुमार मिश्र भी रखा था,जिसे पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सीओ अलीगंज के मुताबिक आलमबाग के कुछ व्यापारियों ने भी ठगी की शिकायत की है। पीड़ितों से संबंधित थाने में दस्तावेज के साथ एफ आइ आर दर्ज कराने के लिए कहा गया है। बैंक के कर्मचारियों से भी पूछताछ की जाएगी। आरोपित के पास से जो सोना बरामद हुआ था,उसे व्यापारियों को दिखाया गया था। जिससे व्यापारियों द्वारा ठगे गए सोने के आभूषणों की पहचान की जा सके।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments