प्रसूता को झोलाछाप डॉक्टर द्वारा इंजेक्शन लगाने से  हालत बिगड़ी  

प्रसूता को झोलाछाप डॉक्टर द्वारा इंजेक्शन लगाने से  हालत बिगड़ी  

 

माल/ लखनऊ।

माल इलाके के अहिंडर गांव निवासी रामप्रसाद की प्रसूता पत्नी की तबियत बिगड़ने पर एक निजी क्लिनिक पर उपचार के लिये पहुंचा था।

गलत दवा से तबियत बिगड़ने पर पीड़िता की शिकायतआशाबहू नेअधीक्षक से की।अधीक्षक ने पुलिस के साथ क्लिनिक को सीज करने के साथ क्लिनिक संचालिका को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

अहिंडर निवासी रामप्रसाद की प्रसूता पत्नी नहनकी 35 की तबियत शुक्रवार रात बिगड़ी तो। गांव में स्थित बालाजी कूल कार्नर के सामने झोलाछाप महिला डॉक्टर सुश्री नीतू बर्मा के क्लिनिक पर  लेकर पहुंचे।

जहां तथाकथित प्रशिक्षित नर्सिंग डॉ0नीतू ने प्रसूता को टैक्साकाइड इंजेक्शन लगा दिया जिससे तबियत बिगड़ने लगी।तब डॉ0नीतू ने बताया कि अब तुरन्त अबॉर्शन की जरूरत है।

यह सुन पीड़िता का परिवार सन्न रह गया और गांव वालों की मदद से आशाबहू सीमा पीड़िता को लेकर माल सीएचसी पहुंची।

जहां अधीक्षक ने पीड़िता के बयान पर माल पुलिस को घटना स्थल पर भेजा और अधीक्षक स्वयं अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे।वहां सेअबॉर्शन में उपयोग करने वाले कई उपकरणों के साथ एलोपैथिक

दवाएं,इंजेक्शन एवम एमटीपी किट अवैध रूप से पायी गयी।जो डिलीवरी,गर्भपातऔरअन्य सेवाएंअवैध  सेवाएं संचालित करने की सबूतहै।

नीतू वर्मा से अधीक्षक ने कागज मागे पर केवल प्रशिक्षित नर्सिंग बताया लेकिन कोई सबूत नहीं दिखा सकीं।

इस पर पुलिस और अधीक्षक की टीम ने क्लिनिक कोसील करदिया।साथ ही अबॉर्शन करने सम्बन्धी कई उपकरण और ऐलोपैथिक दवायें बरामद कर सील कर कब्जे में ले लिया।

क्लिनिक संचालिका नीतू वर्मा को पुलिस हिरासत में देकर उस पर अवैध रूप से क्लिनिक संचालित करने का मुकदमा दर्ज कराया है।

इसके अलावा अधीक्षक डॉ0के डी मिश्रा ने बताया कि सीएमओ के निर्देश पर झोलाछाप डा0 कैलाश गहदों और डॉ0 अमित कुमार  केअवैध क्लिनिक भी सील किये गये हैं।

Comments