देखरेख के अभाव से खंडहर होता जा रहा ग्राम सचिवालय

देखरेख के अभाव से खंडहर होता जा रहा ग्राम सचिवालय

देखरेख के अभाव से खंडहर होता जा रहा ग्राम सचिवालय 

"गांव के अराजक तत्वों ने जमाया अपना कब्जा बांध रहे हैं जानवर" 

रायबरेली/ महराजगंज विकासखंड के ग्राम पंचायत घुरौना में सरकार के लाखों रुपए की लागत से बना ग्राम पंचायत सचिवालय अपनी बदहाली के आंसू बहा रहा है इस ग्राम पंचायत सचिवालय में जानवरों के गोबर का अंबार लगा हुआ है गांव के कुछ अराजक तत्वों ने सचिवालय में अपना अपना अधिकार जमाए हुए हैं कुछ लोगों ने गोबर के उपले लगाए हुए हैं तो कोई गोवंश बांध रखा है तो किसी ने अपना भूसा तो किसी ने चारपाई डालकर वहीं पर रात दिन बिताते हैं 


ग्रामीणों से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत अधिकारी यहां पर कभी भी मीटिंग करने इस सचिवालय में नहीं पहुंचते हैं ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर सचिवालय की सही तरीके से देख रेख ना करने का आरोप भी लगाया साथ यह भी बताया कि लगभग 3 वर्षों से इसकी मरम्मत भी नहीं कराई गई जबकि सरकार की ओर से समय-समय पर सचिवालय मरम्मत हेतु रंगाई पुताई के लिए रुपया भेजा जाता है लेकिन राज्य की योगी सरकार इन भ्रष्टाचारियों पर किसी प्रकार की लगाम नहीं लगा पा रहे हैं भ्रष्ट अधिकारी और कर्मचारी भी भ्रष्टाचार में चार चांद लगाने से बाज नहीं आ रहे हैं जब शासन सत्ता में बैठे सभी भ्रष्ट है तो आम जनमानस को इन भ्रष्टाचारियों का सामना करना पड़ता है


 इस गांव में सफाई कर्मी भी नियमित रूप से सफाई करने नहीं आता है पंचायती राज विभाग की उदासीनता के चलते सरकारी संपत्ति पंचायत भवन, ग्राम सचिवालय ,आंगनबाड़ी केंद्र को गांव के अराजक तत्वों ने अपना अपना अधिकार जमाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं जैसे कि उनकी निजी संपत्ति है इन अराजक तत्वों पर कैसे रोक लगाया जाए सरकार को जल्द ही कोई ठोस कदम उठा कर इन अराजक तत्वों के ऊपर कठिन कार्यवाही करें नहीं तो यह लोग सरकार की संपत्ति को अपनी संपत्ति बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments