माँ सरस्वती को कैसे खुश करे.........

माँ सरस्वती को कैसे खुश करे.........

.(संवाददाता -आनन्द त्रिपाठी अयोध्या)

वसंत पंचमी की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएँ वसंत पंचमी यानी माघ मास की शुक्ल पंचमी तिथि को ज्ञान की देवी सरस्वती की पूजा का विधान है।

इस बार यह तिथि 9 फरवरी दिन शनिवार को 8: 54 am के बाद से रविवार को 10:00 am तक है। ज्योतिषों के अनुसार, वसंत पंचमी के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग, रवि योग, साध्य योग और ध्वय योग जैसे पंच महायोग का संयोग बन रहा है।

शास्त्रीय विधि के अनुसार किसी व्रत का विधान नहीं हैं, लेकिन देवपूजन से पूर्व भोजन नहीं करने की परम्परा चली आ रही है। ज्योतिषों के अनुसार, अगर आप इस दिन कुछ शुभ कार्य करते हैं तो जीवन में आपको सफलता जरूर मिलती है साथ ही मां सरस्वती का आशीर्वाद भी आप पर बना रहेगा।

आइए जानते हैं कि आज के दिन क्या करना चाहिए। – ज्योतिषों के अनुसार, वसंत पंचमी के दिन पपीते व केले का दान करना बहुत शुभ माना जाता है। ऐसा करने से शारीरिक व मानसिक विकास होता है। – पीले रंग को वंसत का प्रतीक माना जाता है।

इसलिए इस दिन पूजा और वस्त्रों में भी पीले रंग का इस्तेमाल करना चाहिए। साथ ही मां सरस्वती की अराधना भी पीले फूल चढ़ाकर करनी चाहिए। – विद्यार्थियों के लिए वसंत पंचमी का दिन बहुत शुभ माना जाता है। जिन विद्यार्थियों का पढ़ाई में मन नहीं लगता,

वह अपने अध्ययन कक्ष के उत्तर पूर्व दिशा में मां सरस्वती की प्रतिमा स्थापित करें। इसके बाद पीले रंग के कागज पर लाल रंग की कलम से 11 बार ओम ऐं सरस्वत्यै नम: मंत्र लिखें। – वसंत पंचमी के दिन गुरु से आशीष अवश्य लें। इस दिन गुरु का आशीष लेने से विद्यार्थी ज्ञानवान व एकाग्रचित्त बनता है। 

इस दिन पीले रंग का फूल का पौधा लगाएं। वास्तु के हिसाब से पीले रंग का फूल बहुत शुभ माना जाता है। इसे घर में लगाने से आपकी किस्मत बुलंद रहती है और सारे काम समय पर होते हैं। 

वसंत पंचमी के दिन स्नान का भी बहुत महत्व है। कुंभ में तीसरा शाही स्नान इस दिन होता है। माना जाता है कि इस दिन पवित्र नदी में स्नान करने से बुद्धिबल का विकास होता है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments