सडक से उछल टैक पर दौडती मालगाडी के इंजन से जा टकराया गैस टैंकर

सडक से उछल टैक पर दौडती मालगाडी के इंजन से जा टकराया गैस टैंकर

 

मथुरा

राया मथुरा रोड स्थित गांव दीवाना कला के पास अलीगढ से गैस खाली  करके लौट रहा एलपीजी गैस टैंकर चार बाइक सवार युवकों को रौंदते हुए बेकाबू होकर रेलवे ट्रैक से निकल रही माल गाडी से टकरा गया। हादसा इतना भीषण था कि मालगाडी का इंजन क्षतिग्रस्त हो गया।

टैंकर दो हिस्सों मंे बंट गया। इंजन वाला हिस्सा मालगाडी  से टकराने के बाद रेलवे ट्रैक की दूसरी ओर जा गिरा। जबकि कैप्सूल सडक के दूसरी तरफ लुढकता हुआ चला गया। गनीमत रही कि कैप्सूल खाली था और रेलवे ट्रैक पर सवारी गाडी नहीं गुजर रही थी। इस दौरान एक बाइक सवार युवक की मौत हो गयी और तीन युवक घायल हो गए।

इस दौरान मालगाडी के पहिये पटरी से उतर गए और इंजन क्षतिग्रस्त हो गया। यह हादसा मथुरा हाथरास रोड पर रात करीब साढे दस बजे हुआ। हादसे की जानकारी होने पर रात में ही जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र और एसएसपी शलभ माथुर घटना स्थल पर पहुंच गये। पूरा प्रशासनिक अमला हरकत में आ गया। सूचना मिलते ही रेलवे के अधिकार भी घटना स्थल की ओर दौड पडे। इस दौरान सडक के दोनों तरफ लबा जाम लग गया।

  • -हदासे के बंद कर दिया गया रेल यातायात, कई ट्रेन हुईं रद्द
  • -मालगाडी के पहिये पटरी से उतरे, ट्रैक हुआ क्षतिग्रस्त
  • -चार बाइक सवारों को भी रौंदा, एक की मौत, तीन की हालत गंभीर
  • -मथुरा रिफाइनरी की टीम पहुंची मौके पर, डीएम एसएसपी ने रात में सम्हाला मोर्चा
  • -दोनों ओर वाहनों की लगीं लबी कतारें, डायवर्ट रूट से गुजारे गये वाहन

इस हादसे से  रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण ट्रेनो का संचालन बन्द हो गया। कई ट्रेनें रद्द करनी पडीं। रात्रि करीब साढे दस बजे अलीगढ से गैस खाली कर लौट रहे एलपीजी टैंकर दो बाइकों पर सवार चार युवकों को रौंदने के बाद रेलवे ट्रैक की बेरीकेडिंग को तोडता हुआ उछल  कर रेलवे ट्रैक से गुजर रही मालगाडी से टकरा गया।

इस दौरान बाइक सवार अतीक अहमद पुत्र अक्कन अहमद निवासी व्यापारी मोहल्ला थाना राया की अस्पताल में मौत हो गयी। तीन अन्य घायलों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। इस भीषण हादसे में मालगाडी का इंजन क्षतिग्रस्त हो गया और पहिया पटरी से उतर गये।  

दूसरे दिन भी घटना स्थल पर ट्रेनों को धीमी गति से गुजारा गया दूसरे दिन भी रेल यातायात प्रभावित रहा, रात में गुजरने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया। दिन में ट्रैक पर काम शुरू हुआ जो शाम तक चलता रहा। इस दौरान यातायात तो चालू कर दिया गया लेकिन जिस स्थान पर हादसा उससे कुछ पहले ही ट्रेनों को रोक कर धीमी गति से गुजारा गया।

 

Comments