मथुरा की बड़ी खबरे

मथुरा  की बड़ी खबरे

दिवाली पर सट्टा हुआ तो नपेंगे थाना, चैकी इंचार्ज

  • -सकुर्लर जारी कर सख्ती बरतने के दिये निर्देश
  • -होलीगेट क्षेत्र में सट्टा, जूआ के कई बडे अड्डे

मथुरा

दिवाली पर सट्टा हुआ तो संबंधित थाना और चैकी इंचार्ज पर गाज गिरेगी। इस बात का सर्कुलर विभाग द्वारा जारी कर दिया गया है। सर्कूलर जारी होने और लगातार ब्रीफिंग के बाद भी सट्टा किंग जनपद में कारोबार को पफैलाने में सफल रहे हैं। बताया जा रहा है कि होलीगेट क्षेत्र में जूआ सट्टा के कारोबारियों ने फिर से अपने पैर मजबूती से मजा लिये हैं।
अधिकारियों तक भी इस बात की सूचना है, इसके बाद भी कारोबार के दिवाली पर करोडों में होने की आशंका है। क्षेत्रीय लोगों का कहना है इसके पीछे उन पुलिसकर्मियों की भी संलिप्तता  है जो वर्षों से यहां जमे हैं या जमे रहने के बाद हट तो गये हैं लेकिन अपने कमाउ पूतों को  पूरा संरक्षण दे रहे हैं। एसएसपी शलभ माथुर के भी स्पष्ट निर्देश हैं कि दीपावली से पहले जनपद में जूआ सट्टा के कारोबारियों को सलाखों के पीछे होना चाहिए है। होलीगेट शहर की शान है। इसी लिए पुलिस कप्तान यहां तेज तर्रार अधिकारी की ही नियुक्ति करते हैं। लोगों का कहना है कि क्षेत्र में इन दिनों पुलिस गस्त कम देखने को मिलती है। पुलिसकर्मियों की मिली भगत से अवैध कारोबारी भी पनप रहे हैं।  

 

ट्रैक्टर ट्राली में पीछे से घुसी कार, टैंकर ने बाइक सवार को रौंदा, दो की मौत

  • -वृंदावन क्षेत्र में एक आक्रोशित ग्रामीणों ने लगाया जाम

मथुरा। दो सडक हादसों में दो युवकों की मौत हो गई है। छाता कोतवाली क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग दो पर एक कार पीछे से आगे चल रहे ट्रेक्टर ट्राली में जा घुसी वहीं वृंदावन क्षेत्र में एक बाइक सवार को कैंटर चालक ने रौंद दिया।
एनएच टू पर मथुरा से दिल्ली की तरफ जाते समय एक कार आगे चल रहे ट्रैक्टर ट्राली में जा घुसी इस दुर्घटना में एक कर सवार युवक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दूसरे को भी चोट आई हैं ट्रैक्टर चालक ट्रैक्टर ट्राली को मौके पर ही छोड कर फरार हो गया। मृतक युवक वसुंधरा गाजियाबाद का रहने वाला है।
दूसरी घटना पानी गांव के समीप हुई यहां कैंटर ने एक बाइक सवार को रौंद दिया। बाइक सवार की मौके पर ही मौत हो गई। मृतक की पहचान नन्द नगरिया निवासी 19 वर्षीय प्रवीन कुमार के रूप में हुई है। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने सडक पर जाम लगा दिया। जाम लगाये जाने की सूचना पर एसडीएम, सीओ सदर और कई थानों का फोर्स पहुंच गया। अधिकारियों ने बमुश्किल ग्रामीणों को समझा बुझाकर जाम खुलवाया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

 

सातवें चरण में 102 टीबी के मरीज और मिले
-वर्ष 2025 तक देश से टीबी का खात्मा किया जाना है
-सातवें चरण में 117 टीमें जुटीं, 23 सुपरवाइजर ने रखी निगरानी  

 

मथुरा। जनपद में पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम का सातवां चरण समापन हो गया है। इस चरण में क्षय रोग के 102 नए मरीजों को खोजा गया है। इनके बलगम की जांच में सैंपल पाजीटिव पाए गए हैं।
वर्ष 2025 तक देश से टीबी के खात्मे के ध्येय से चलाए जा रहे  राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के सातवें चरण में मथुरा में 102 ने मरीज मिले हैं। सबसे ज्यादा मरीज फरह व कोसीकलां क्षेत्र में मिले हैं। वृंदावन में भी क्षय रोगी काफी मिले हैं। क्षय रोग विभाग द्वारा बुधवार की सायं तक बलगम की जांच रिपोर्ट कंपाइल की जाती रहीं। अभियान में 117 टीमें जुटाई गयीं थी। इन टीमों पर 23 सुपरवाइजरों ने निगरानी की।  
विगत 14 अक्टूबर को स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त निदेशक डा. अनीता सोनी ने जनपद मथुरा में संचालित सक्रिय क्षय रोगी खोज अभियान की समीक्षा की थी। संयुक्त निदेशक द्वारा जनपद मथुरा के राया ब्लाक में संचालित अभियान में कार्यरत टीमों का निरीक्षण गया था। संयुक्त निदेशक ने बताया कि जनपद में घर घर रोगियों की खोज हो रही है। हर हालत में वर्ष 2025 तक देश से टीबी का खात्मा किया जाना है। लोगों को टीबी के प्रति जागरूक किया जा रहा है।
उन्होंने राया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर चिकित्सक टीम के मेंबर एवं उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. आलोक कुमार के साथ बैठक की थी। बैठक में उनके द्वारा निर्देशित किया गया था। यह भी सुनिश्चित किया गया कि अगले चरण से घरों पर मार्किंग करने के साथ-साथ अग्रिम घर पर जाने से पूर्व तीर का निशान लगाया जाए जिससे पता चले कि टीम किस दिशा में कार्य कर रही है। यह सुनिश्चित किया जाए कि घर के प्रत्येक व्यक्ति स्क्रीनिंग हो तथा यदि उनमें क्षय रोग के लक्षण पाए जाते हैं तो नजदीकी बलगम परीक्षण केंद्र पर समय से इसकी जांच कराते हुए क्षय रोग चिन्हित होने पर उसका उसका उपचार तत्काल शुरू कराएं। साथ ही सभी चिन्हित क्षय रोगियों का बलगम परीक्षण भी करवाएं।
उप जिला क्षय रोग अधिकारी डा. आलोक कुमार, श्याम सुंदर वर्मा व डॉ मनोज चैधरी आदि अभियान में जुटे रहे।

मथुरा में टीबी रोगी बच्चे गोद दिए
राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के आदेश पर मथुरा में टीबी रोगी बच्चों को गोद दिए जाने का सिलसिला चल रहा है। आठ दर्जन बच्चों को स्वयंसेवी संस्थाओं व स्वयंसेवी व उद्योगपतियों को गोद दिया जा चुका है। विदित हो कि वेटरिनरी विवि के दीक्षांत समारोह में पहुंची राज्यपाल ने प्रशासन की बैठक लेकर टीबी रोगी व कुपोषित बच्चों को गोद दिलाने को कहा था।  
 

Comments