दस वैवाहिक जोड़ों ने साथ रहने का फिर से किया फैसला, महिला थाने की बड़ी कामयाबी

दस वैवाहिक जोड़ों ने साथ रहने का फिर से किया फैसला, महिला थाने की बड़ी कामयाबी

                  गौरीगंज (अमेठी)।

सच ही कहा गया है कि तोड़ना आसान है किन्तु जोड़ना कठिन। अगर कोई पारिवारिक संबंधों को पुनः स्थापित करने का काम करे तो यह निश्चित ही सामाजिक रूप से सराहनीय कार्य कहलाएगा।

                  इसी तरह का एक सराहनीय कार्य महिला थानाध्यक्ष कंचन सिंह के टीम ने कर दिखाया है। जिसमे काउन्सलिन्ग के माध्यम से दस वैवाहिक जोड़ों के बीच हुए मत-भेद को समाप्त करने मे सफलता मिली है।

                 रविवार को अपर पुलिस अधीक्षक दायराम सरोज कि मौजूदगी मे दस वैवाहिक जोड़े खुशी-खुशी आपसी मन-मुटाव को भुलाकर साथ रहने को राजी हो गए।

                अपर पुलिस अधीक्षक ने इस पर प्रशन्नता व्यक्त करते हुए सभी जोड़ों के उज़्ज्वल  भविष्य के लिए शुभकामनाएँ दिया है।

                अमेठी पुलिस अधीक्षक डॉ0 ख्याति गर्ग ने इस अवसर पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा है कि इससे हमारी सामाजिक व्यवस्था मजबूत होगी तथा परिवार जो समाज का आधार है उसका सकारात्मक विकास संभव होगा।

Comments