आरटीआई कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित करने का आरोप

आरटीआई कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित करने का आरोप

      नरेश गुप्ता/ राजकुमार गुप्ता की रिपोर्ट

एनएपीएम का प्रतिनिधि मंडल एसएसपी से मिला

मिर्जापुर -

जन आंदोलनो का राष्ट्रीय समन्वयन (एनएपीएम) का प्रतिनिधिमंडल सोमवार को कार्यालय में एसएसपी धर्मवीर सिंह से मिला।

आरटीआई कार्यकर्ता प्रदीप शुक्ला के जमीन पर लगे भट्टी के किराए के लेनदेन के विवाद संबंधी प्रकरण मे पुलिस की ओर से आरोपी को संरक्षण और आरटीआई एक्टिविस्ट को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया।

ज्ञापन सौंपकर सुरक्षा सुनिश्चित करने व निष्पक्ष कार्रवाई की मांग की।

प्रतिनिधिमंडल ने कहा आरटीआई कार्यकर्ता समाज व सरकारी तंत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार को उजागर  करके राष्ट्रहित एवं जनहित का काम करते हैं। ऐसे में तमाम लोग उनसे वैमनस्यता रखते हैं।

अधिकारी समेत रसूखदारों से खतरा बना रहता है। पुलिस भी मामला सामने आने पर आरटीआई एक्टिविस्ट की मदद करने की बजाए उल्टे फंसाने का काम करती है।

बताते चलें कि पिछले दिनों एक मामले में आरटीआई एक्टिविस्ट प्रदीप शुक्ला को भक्ति में दिए जमीन की किराए को लेकर लेन-देन का विवाद होने पर दबंग

ईट भट्टा संचालक खनन माफिया महेंद्र कुमार सिंह द्वारा बकाया न देने और जबरिया खनन और ईट भट्टे की निकासी एवं अन्य कार्य कराएं जाने के बाबत स्थानीय चुनार पुलिस और डायल 100 को बार बार अवगत कराने के बाद भी पुलिस संरक्षण प्राप्त

आरोपी जबरन पीड़ित शुक्ला के जमीन पर जबरन कार्य करा रहे थे पुलिस के तरफ से ठोश कार्यवाही ना करने उल्टे पीड़ित को उत्पीड़न किया जा रहा है।  एसएसपी ने मामले की जांच कर दोषियों की खिलाफ कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

प्रतिनिधिमंडल में  प्रदीप शुक्ला, राजेंद्र मिश्र, वल्लभाचार्य पांडे, एनएपीएम के राज्य संयोजक सुरेश राठौर, साझा संस्कृति मंच के एस.पी राय, सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता, पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगिराज सिंह पटेल, उर्मिला विश्वकर्मा मनु लाल मौर्या दरोगा पांडे मुन्ना विश्वकर्मा आदि लोग शामिल थे। 

Comments