नानक देव के 550 प्रकाशोत्सव पर प्रकाशमय हुये गुरूद्वारे

 नानक देव के 550 प्रकाशोत्सव पर प्रकाशमय हुये गुरूद्वारे


नानक देव के 550 प्रकाशोत्सव पर प्रकाशमय हुये गुरूद्वारे
डीएम, एसपी ने माथा ठेक मांगी अमन, चैन की दुआयें


ललितपुर। Antim kumar jain

गुरूनानक देवजी के 550वे प्रकाश उत्सव श्री गुरु सिंह सभा द्वारा बड़े जोर शोर से मनाया जा रहा है। 550वें प्रकाशोत्सव का मुख्य कार्यालय आजादचौक स्थित गुरूद्वारे में सम्पन्न हुआ। जहां सुबह से ही सिख धर्म के श्रृद्वालुओं के साथ साथ विभिन्न जाति-धर्मांे के लोगों ने गुरूगं्रथ साहिब के सामने मत्था टेका। कुछ ही देर बाद अधिकारी योगेश शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बैग, अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार मिश्र अपने अन्य साथियों सहित गुरुद्वारे पहुंचे और गुरूग्रंथ साहिब के सामने मत्था टेक कर देश में अमन चैन की कामना की। गुरू द्वारे में ग्रंथीजी द्वारा बताया गया कि नानक कहत जगत सभ मिथिआ, ज्यों सुपना रैनाई। इस तरह से अनेक संदेश देकर गुरु नानक देव जी ने दुनिया को सीख दी।

15 अप्रैल 1469 को गुरु नानक देव जी का जन्म कार्तिक महीने की पूर्णिमा को हुआ था। गुरु द्वारा पहुंचने पर गुरु सिंह सभा द्वारा दोनों अधिकारियों का सम्मान किया गया इस मौके पर सरदार सतीत अरोरा, गुरबचन सिंह बिल्ले, सरदार मंजीत सिंह, जगप्रीत सिंह बॉबी सरदार आदि ने जिलाधिकारी और एसपी का माल्यार्पण कर स्वागत किया। कार्याक्रम के समापन के बाद लंगर का आयोजन किया गया। जिसमें शहर के कई गणमान्य नागरिकों ने प्रसाद ग्रहण किया।


कांग्रेसजनों ने गुरूद्वारे में टेका माथा


गुरूनानक देवजी के 550वे प्रकाश उत्सव पर कांग्रेस कार्याकताओं ने भी गुरूद्वारे पहुंचकर माथा टेका साथ गुरूदेव द्वारा बाताये गये रास्ते पर चलते हुये ग्राम पनारी स्थित दलित बस्ती में जाकर निर्धनजनों की सेवा की। सबसे पहले कांग्रेस कार्याकत्र्ता जिलाध्यक्ष बलबंत सिंह राजपूत के साथ सुबह-सुबह लक्ष्मीपुरा स्थित गुरूद्वारे पहुंच जहां सबद, कीर्तिन में हिस्सा लिया बान में आयोजित लंगर में सभी कांग्रेसियों द्वारा सेवा दी गयी। बाद में सभी लोग पनारी स्थित दलित बस्ती में पहुंचे जहां गुरूनानक देव के बताये समानता के सिद्धान्तों पर अमल करते हुये सभी ने दलित बस्ती में एक साथ चाय, शुल्पाहार किया। 

 

Comments