नरेंद्र मोदी सरकार का पहला बजट निराशाजनक और दिशाहीन : सतपाल रायजादा

नरेंद्र मोदी सरकार का पहला बजट निराशाजनक और दिशाहीन : सतपाल रायजादा

 

ऊना !

लोकसभा चुनाव में विशाल जनादेश पाने के बाद भी नरेंद्र मोदी सरकार का पहला बजट निराश करने वाला और दिशाहीन है। मोदी सरकार के पहले बजट में मध्यम वर्गीय परिवार का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा गया। यह बात ऊना सदर के विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने कही।


बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए विधायक रायजादा ने कहा कि लोकसभा चुनाव में जिस प्रकार जनता ने मोदी को समर्थन दिया है, उसके अनुरूप अब मोदी ने बजट पेश नहीं किया। अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और भाजपा ने जो चुनावी वादे किए गए थे, उस दिशा में कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया गया है। मोदी सरकार का जो पहला बजट जो आया वो शुभ संकेत नहीं है। इस बजट में सिर्फ पुरानी बातों को दोहराया गया है। मोदी के बजट में पैट्रोल व डीजल के महंगा होने की बात कही गई है,

जिसका असर किसान से लेकर आम जनता पर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पेट्रोल व डीजल के महंगा होने से तमाम चीजें भी महंगी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सोना व कस्टम डयूटी पर बढ़ोतरी की गई है, जिसकी मार झेलनी पड़ेगी। विधायक रायजादा ने कहा कि टैक्स स्लैब में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है। रक्षा बजट में सेना के आधुनिकीकरण के लिए कोई बजट का प्रावधान नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि देश ऐसे ही नोटबंदी और जीएसटी की मार को झेल रहा है।

आने वाले दिनों में इसका बड़ा व्यापाक असर देखने को मिलेगा। रायजादा ने कहा कि इस बजट से कृषि क्षेत्र को कुछ नहीं मिलेगा। पिछले चार साल से किसानों की खुदकुशी में आत्महत्या का आंकड़ा बढ़ा है। किसानों की आय दोगुनी करने का दावा करने वाली सरकार ने ऐसा कुछ भी नहीं किया, जिससे किसानों को कुछ खास मिले। किसानों और खेतीबाड़ी के लिए कोई स्पष्ट नीति इस बजट में नहीं है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments