स्वतंत्र प्रभात के संपादक को घर में घुसकर धमकाने व बाद में देख लेने की दी गई धमकी

स्वतंत्र प्रभात के संपादक को घर में घुसकर धमकाने व बाद में देख लेने की दी गई धमकी


अशोक तिवारी न्यूज 24 का पत्रकार बताने वाला अपराधिक तत्व अपने साथी के साथ असलहा लेकर बिना किसी पूर्व सूचना के अन्य लोगों के साथ घर में घुसा

स्थानीय पार्षद राघव राम तिवारी की खबरों से थी आपत्ति तरह तरह से प्रताड़ित करने का लगातार किया जा रहा है प्रयास

नगर निगम की खबर और जाँच के लिए स्थानीय लोगों द्वारा प्रार्थना पत्र देने से थी आपत्ति

राजधानी ब्यूरो रिपोर्ट 


लखनऊ /स्वतंत्र प्रभात की खबरों ने हर तरफ राजधानी में दिखा दिया वास्तविक पत्रकारिता जिसकी वजह से तिलमिला उठे हैं अराजक तत्व. स्वतंत्र प्रभात के पिछले कई खबरों ने भ्रष्ट अधिकारियों पार्षदों अराजक तत्वों को राजधानी में वास्तविक खबर प्रकाशित कर रातों की नींद उड़ा दी है l



जिसकी वजह से स्वतंत्र प्रभात के कई पदाधिकारियों एवं पत्रकारों को अलग अलग तरीके से निशाना बनाया जा रहा है. अराजक तत्वों की नींद तो ऐसी उड़ी है कि पत्रकारों के घर असलहा लेकर रात के अंधेरे में धमकाने पहुंच जा रहे हैं.

ऐसा ही मामला प्राप्त जानकारी के अनुसार स्वतंत्र प्रभात के संपादक के घर 4 नवंबर की रात लगभग 11:00 बजे तेज नारायण शुक्ला दो अन्य लोगों के साथ जो अपने को News24 के अशोक तिवारी और रोहित दुबे बता रहे हैं असलहा लेकर पहुंचे. घर पर ही नगर निगम को दिए गए प्रार्थना पत्र और खबर को लेकर बहस करने लगे और घर पर दहशत का माहौल बना दिए.



जबकि संपादक के पिता का हार्ट का इलाज राजधानी लखनऊ के सहारा हॉस्पिटल में ही चल रहा है अशोक तिवारी स्थानीय पार्षद का भाई है जो संपादक को अपने धौस  में लेकर पहले तो खबर और नगर निगम के लिए दिए गए प्रार्थना पत्र को वापस लेने और होश में रहने की बात करने लगा बाद में घर परिवार को दहशत में भर दिया



जिससे स्वतंत्र प्रभात के संपादक का परिवार सहम सा गया है अपराधिक तत्वों ने देख लेने की बात भी कही. बीचबीच में रोहित दुबे लगातार घर का माहौल ख़राब करने तथा उकसाने का प्रयास कर रहा था साथ ही अनावश्यक अनर्गल बातो से घर का पूरा माहौल ख़राब आधी रात को किया गया



संपादक ने स्थानीय थाना विकास नगर को लिखित तहरीर दी है अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है थानाध्यक्ष ने बात चीत में एक दिन का समय माँगा है सोशल मीडिया ट्विटर हैंडल @lucknowpulice द्वारा कार्यवाही करने का भरोसा मिला है l



वैसे संपादक ने इसे बेहद ही शर्मनाक और आपत्तिजनक बताया है साथ ही उन्होंने बताया की अगर इस घटना से उनके पिताजी को कुछ भी आघात पहुँचता है तो वो इसकी लड़ाई पूरी ताकत से लड़ेंगे और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाने का प्रयास करेंगे साथ ही मान सम्मान की लड़ाई को आगे ले जाने की बात कही है



लेकिन क्या राजधानी में इतना आसान हो गया है कोई किसी को कभी भी घर में घुसकर डरा धमका या मार सकता है या पुलिस का खौफ इन दिनों अपराधियों अराजक तत्वों से बाहर हो चुका है ?

 देखने वाली बात ये होगी क़ि क्या मामले को गंभीरता से लिया जायेगा या फिर हर बार की तरह सिर्फ खाना पूर्ति ही की जाएगी ये तो आने वाला वक़्त ही बता पायेगा 

 

Comments