सरैया स्टेशन पर यात्री सुविधाओं का अभाव ,टिन शेड भी नही 

सरैया स्टेशन पर यात्री सुविधाओं का अभाव ,टिन शेड भी नही 

नरेश कुमार गुप्ता

सरैया स्टेशन पर यात्री सुविधाओं का अभाव ,टिन शेड भी नही 


सुधीर मिश्रा की रिपोर्ट 


पहला (सीतापुर )

पूर्वोत्तर रेलवे के सीतापुर -बुढवल खंड पर सरैया प्रमुख स्टेशन है लेकिन स्टेशन पर टिन शेड नही है महेन्द्र कुमार मौर्य कहते है कि प्रतिदिन बङी संख्या में दैनिक यात्री बाहर आते जाते है इनमे कस्बे के अलावा निकटवर्ती गांव के लोग भी शामिल है 


समस्याओ के सन्दर्भ मे विभागीय अधिकारियों को पत्र लिखे गए लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई राहुल रस्तोगी का कहना है कि सुबह और शाम को स्टेशन पर यात्री गणों की काफी भीङ जुटती है उनके लिए स्टेशन के बरामदे के अलावा छोटा सा शेड है 


इसलिए यात्रीयो को विशेषकर धूप और बरसात में काफी दिक्कत होती है दिनेश कुमार मौर्य उर्फ लपपू कहते है कि यहां से मिश्रिख नैमिषारण्य के लिए कम बोगियों की एक ही ट्रेन चलती है इसके कारण यहां से इन तीर्थो को जाने वाले यात्रीयो को परेशानी का सामना करना पड़ता है बिशेषकर अमावस्या तथा अन्य पर्वो पर क्योंकि कम बोगियो होने के कारण यह ट्रेन पहले से ही ठसाठस भरी रहती है 


कस्बा निवासी डाक्टर नूर मोहम्मद का कहना है कि इस क्षेत्र मे बङी संख्या में ऐसे परिवार है जिनके रिश्तेदार व परिवारजन बाहर रहते है लेकिन लम्बी दूरी की ट्रेनो का ठहराव न होने से भारी असुविधा होती है लोग सीतापुर जाकर ट्रेन पकङते है 


कृष्ण कुमार रस्तोगी का कहना है कि स्टेशन पर शौचालय बना है लेकिन गंदगी व सफाई न कराकर ताला ही बन्द रहता है इसका लाभ यात्रीयो को नही मिल पाता इससे बिशेषकर बुजुर्गो व महिलाओ को काफी परेशानी होती है 


जगदीश उर्फ मुंशी, शंतोष वर्मा अशोक गुप्ता का कहना है कि यहां पर तैनात सफाईकर्मी सफाई नही करता जिससे स्टेशन के बाहर दुकानदरो के सामने गंदगी का बोलबाला रहता है लोग मजबूरी मे बैठकर जलपान कर ट्रेन का इंतजार करते है

इसकी सफाई कराने की कोई व्यवस्था नही की गई है इस सन्दर्भ मे यहां पर तैनात स्टेशन के स्टाफ से बात करने का प्रयास किया गया तो उन लोगो ने कुछ भी उत्तर देने से यह कहकर इन्कार कर दिया कि वे इसके लिए अधिकृत नही है

Comments