चुनाव नजदीक बढी रेत खनन की स्पीड मिट्टी महंगी होने पर नेताओं का नजरिया स्पष्ट नहीं

चुनाव नजदीक बढी रेत खनन की स्पीड मिट्टी महंगी होने पर नेताओं का नजरिया स्पष्ट नहीं

(कसगंजा) पीलीभीत

ग्रामीण अंचलों में अवैध खनन माफिया इन दिनों रात दिन खनन कर धरती का सीना चीर रहे हैं‌। लेकिन प्रशासन मौन है ।

खनन माफिया क्षेत्र के तालाबों से एवं खेतों से मिट्टी खनन कर मोटी कमाई कर रहे हैं। अगर अवैध खनन का गोरखधंधा इस तरह से ही बढता रहा तो ग्रामीण क्षेत्र में मौजूद तालाबों में पानी का संकट बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि गोरखधंधा लेखपाल एवं तहसीलदार की मिलीभगत के चलते हो रहा है।

पूरनपुर नगर क्षेत्र की ग्राम पंचायत कबीरपुर कसगंजा क्षेत्र में इन दिनों रात दिन अवैध खनन माफिया जमकर  का खनन कर रहे हैं।यह माफिया तालाबों से एवं खैतो से मिट्टी एवं रेत निकाल कर क्षेत्र के गांवों में जरूरतमंदों को बिक्री कर  मोटा मुनाफा कमा रहे हैं।

जिससे यह तालाब अपने रूप से पूरी तरह विकृत हो गये हैं ।प्रदेश सरकार भले ही अवैध खनन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा चुकी हो इसके बावजूद भी स्थानीय प्रशासन की उदासीनता से ग्रामीण क्षेत्रों में मौजूद तालाबों से अवैध खनन माफिया जमकर अवैध खनन कर रहे हैं।

स्थानीय पुलिस के गश्त ना किए जाने से अवैध खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। जिससे यह खनन माफिया रात हो या दिन अवैध खनन करने में कोई गुरेज नहीं कर रहे है।इसके बावजूद विभागीय अधिकारियों के  ध्यान ना देने से ग्रामीण क्षेत्र में अवैध खनन माफिया हावी रहते हैं।

खनन माफिया क्षेत्र के गांव में से खेतों की मिट्टी निकाल कर जरूरतमंदों को बिक्री कर मोटा मुनाफा कर रहे हैं स्थानीय पुलिस को हिस्सा देने का कारण पुलिस मौन हो जाती है जिससे इनके हौसले बुलंद है। ग्रामीणों ने मांग की है कि इस तरह से हो रहे अवैध खनन पर रोक लगाई जाए।

रिपोर्ट कृष्ण गोपाल मिश्रा

 

 

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments