पिता की मौत के बाद डेंगू का असर पुत्र पर भी

पिता की मौत के बाद डेंगू का असर पुत्र पर भी

रिपोर्ट-डीके सिंह

टिकैतनगर-बाराबंकी
कस्बा टिकैतनगर में डेंगू से असमय मौत के बाद पिता की चिता की राख ठंडी भी नहीं हुई थी कि डेंगू ने पुत्र को भी अपने चपेट में ले लिया।

पीड़ित को आनन फानन में लखनऊ में इलाज के लिए ले जाया गया जहां उसका इलाज चल रहा है। डेंगू की दहशत से पूरे टिकैतनगर कस्बे में हडकम्प मचा हुआ है।
स्मरण रहे कस्बा व थाना टिकैतनगर के मोहल्ला सरावगी निवासी विनय कुमार वैश्य उर्फ पिन्टू पुत्र श्याम किशोर वैश्य की डेंगू की चपेट में आने से लखनऊ में तीन दिन पूर्व मौत हो गई थी।

और असमय मौत के बाद अगले दिन मृतक का दाह संस्कार किया गया किन्तु अभी मृतक की चिता की राख ठंडी भी नहीं हुई थी कि उसके पुत्र सुधांशु को भी डेंगू ने अपने चपेट मे ले लिया

और उसकी हालत बिगड़ने लगी।परिजनों द्वारा सुधांशु को आनन फानन में लखनऊ में इलाज के लिए ले जाया गया जहां उसका इलाज चल रहा है। डेंगू के कस्बा टिकैतनगर में दस्तक से यहाँ के लोगों में भय व्याप्त हो गया है और प्रत्येक व्यक्ति भयभीत सा है।

तो वही आसपास के गांवों में भी लोग सहमे हुए हैं और हर कोई सावधानी बरतनै की बात कह रहा है।

कुम्भकर्णी नींद से जागा प्रशासन


टिकैतनगर में मे डेंगू की विनय कुमार वैश्य उर्फ पिन्टू की असमय मौत तथा उसके पुत्र सुधांशु के डेंगू की चपेट में आने से आख़िर कार नगर पंचायत प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की कुम्भकर्णी नींद टूटी।

और दोनों के संयुक्त प्रयास से टिकैतनगर पंचायत में फांगिग कराई गई तथा मच्छर मारने वाली दवाओं का छिड़काव करवाया गया लेकिन फागिंग और मच्छर मारने वाली दवाओं का छिड़काव एक तरफा ही रहा और सड़क के एक ओर छिड़काव व फागिंग करवा कर इति श्री कर ली गई

जबकि सड़क के दूसरी ओर न तो फागिंग कराई गई है और न ही दवा का छिड़काव कराया गया जिसमें मच्छरों का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है।


डेंगू से मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने किया परीक्षण

टिकैतनगर कस्बा में एक व्यक्ति की डेंगू से हुई दूसरी मौत व दूसरे के चपेट में आने के बाद आखिरकार स्वास्थ्य विभाग की निंद्रा टूटी और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने टिकैतनगर में तमाम घरों में पहुंच कर निरीक्षण किया तथा लोगों का परीक्षण किया।

इस संबंध में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र टिकैतनगर के अधीक्षक डॉ हेमन्त गुप्ता ने बताया कि हमारी टीम घर घर पहुँच कर लोगों का परीक्षण करके बीमारियों से ग्रसित लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं पहुंनाने के कार्य में जुटी हुई हैं और विभाग की ओर से पूरी सतर्कता बरती जा रही है।

Comments