पोषण अभियान के अंतर्गत प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ आयोजन

पोषण अभियान के अंतर्गत प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ आयोजन

             रिपोर्टर - प्रमोद कुमार चौहान

मनकापुर,गोण्डा-

शिशु की बीमारी के दौरान माताएं उन्हें केवल स्तनपान न कराये।स्तनपान के अलावा उसे ऊपरी आहार भी देना चाहिए।

   उक्त विचार विकास खंड परिसर में आयोजित पोषण अभियान के अन्तगर्त इंक्रीमेंटर लर्निगं एप्रोच माड्यूल- 14 के एक दिवसीय प्रशिक्षण को सम्बोधित करते हुए मास्टर ट्रेनर सुनीता सिंह ने कही।

इसी क्रम में प्रशिक्षण ट्रेनर सविता पान्डेय ने कहा कि शिशु के बीमारी के दौरान यह पता करना आवश्यक होता है कि माताए अपने बच्चो को लगा तार स्तन पान क्यो नही कराती है अौर बोतल का दूध क्यो पिलाया जाता है।

यह जरुरी है कि 06माह के ऊपर बच्चो को ऊपरी आहार देना चाहिए।सखी रिचा श्रीवास्तव ने कहा कि शिशु का बीमार होना सबसे बडा कारण भरपूर ऊपरी आहार न मिलना होता है।ट्रेनर कस्तूरबा सुनीता देवी ने बीमारी के दौरान व बीमारी के बाद क्या-2देना इसके बारे विस्तृत रूप से बताया।

   इस मौके पर यामिनी पान्डेय,प्रीति सिह,रजनी सिंह,ममता आदि आंगनवाडी कार्यकत्रियां मौजूद रही।

Comments