लिंगानुपात में सुधार लाने के लिए आवश्यक गतिविधिया बढ़ाएं

लिंगानुपात में सुधार लाने के लिए आवश्यक गतिविधिया बढ़ाएं

बाल्मीकि वर्मा/रतन सिंह

(स्वतंत्र प्रभात)


पलवल (हरियाणा) मुख्यमंत्री सुशासन कार्यक्रम के परियोजना निदेशक डा. राकेश गुप्ता ने प्रदेश के सभी उपायुक्तों को आवश्यक निर्देश देते हुए कहा कि वे लिंगानुपात में सुधार लाने के लिए आवश्यक गतिविधिया बढ़ाएं।  बुधवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से डा. राकेश गुप्ता ने प्रदेश के सभी उपायुक्तों के साथ पीएनडीटी, सीएम विंडो, एस.एम.जी.टी. के अलावा लिंगानुपात में सुधार, हरियाणा विजन जीरो व ई-चालानिंग, हरियाणा राज्य परिवहन के टर्न आऊट में बढ़ोतरी, अंत्योदय सरल प्रोजेक्ट, पब्लिक लाईब्रेरी और सक्षम हरियाणा शिक्षा पर विस्तार से चर्चा कर समीक्षा की । 


डॉ. गुप्ता ने उपायुक्तों को निर्देश दिए कि वे लिंगानुपात में सुधार के लिए एक्टिविटी बढ़ाएं और पीएनडीटी कानून को सख्ती से लागू करें। इस कार्य में किसी प्रकार की कौताही नही बरती जानी चाहिए। उन्होंने सीएम विंडो व सोशल मीडिया से संबंधित लंबित शिकायतों का शीघ्र निवारण करने को कहा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार परिवार पहचान पत्र पर विशेष ध्यान दिया जाए। भविष्य में नागरिकों को परिवार पहचान पत्र के माध्यम से सरकारी योजनाओं व सुविधाओं के लाभ मिलेंगे। 


डॉ. गुप्ता ने हरियाणा विजन-जीरो की नीति पर अमल करते हुए सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए वाहन चालकों में जागरूकता लाने को कहा ताकि लोग सडक़ हादसों में अकाल मौत का शिकार न हों। उन्होंने यातायात के नियमों की पालना सुनिश्चित करने के लिए कहा। इसी प्रकार से जीरो विजन और ई-चालान, सरल व अत्ंयोदय प्रोजेक्ट को भी शत-प्रतिशत ढंग से लागू करने के निर्देश दिए। 
डॉ. राकेश गुप्ता ने लोगों को तहसीलों में मुहैया करवाई जा रही सेवाओं को सरलता से उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने सक्षम योजना की भी समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देश दिए कि आगामी 6 व 7 सितंबर को होने वाली सक्षम परीक्षा को नकल रहित संपन्न करवाया जाए। स्थानीय शहरी निकाय के एसीएस आनंद मोहन शरण ने भी वीडियो कांफ्रेंस माध्यम से अधिकारियों को स्वच्छ सर्वेक्षण व प्रोपट्री टैक्स सर्वे के बारे में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। 
वीडियो कांफ्रेंसिंग में उपायुक्त यशपाल, पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र बिजरानिया, पलवल के एसडीएम जितेन्द्र कुमार, सिविल सर्जन डा. प्रदीप शर्मा, मुख्यमंत्री की सुशासन सहयोगी मैमूना शाहर, जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल सहित नगर परिषद तथा अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Comments