जहाँ महिलाओं का आदर व सम्मान होता है वो घर स्वर्ग के बराबर होता है

जहाँ महिलाओं का आदर व सम्मान होता है वो घर स्वर्ग के बराबर होता है

रिपोर्ट-राकेश पाठक

हैदरगढ़ बाराबंकी

सबरी भगवान श्री राम की भक्ति मे रात और दिन लीन रहती थी। और उसकी यही मंशा थी कि एक दिन भगवान श्रीराम हमारी कुटिया में जरूर पधारेंगे। अंतर्यामी भगवान श्री राम शबरी की कुटिया में आ ही गए। भक्ति में शक्ति होती है।

यह बात नीमसार से आई भागवत कथा वाचक सुरभि पांडे ने ग्राम सभा दांदूपुर के ग्राम मानपुर में हो रही देवी भागवत कथा में आज कही।

भागवत कथा वाचक सुरभि पांडे ने कहा कि भक्ति में ही शक्ति है। जिसको याद करो श्रद्धा के साथ विश्वास करो। वही व्यक्ति मदद के लिए आ जाता है।

लेकिन विश्वास व श्रद्धा होनी चाहिए। भगवान तो हमेशा भक्तों की ही याद में विचरण किया करते हैं।

वे स्वयं कष्ट झेलते रहते हैं लेकिन अपने भक्तों को कष्ट नहीं होने देते हैं। उसके सारे कष्ट वे स्वयं हर लेते हैं। देवी भागवत कथा में नीमसार से ही आए भागवताचार्य महिंद्रा नंददास ने देवी भागवत में कहा कि आज सबसे ज्यादा शक्ति देवियों में ही है।

उन्होंने तमाम राक्षसों का नाश किया जब जब भी देवताओं को जरूरत हुई तब आदिशक्ति ही प्रकट होकर राक्षसों का विनाश किया है।

उन्होंने यह भी कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान व आदर होता है वह घर भी स्वर्ग होता है।

हम सभी का कर्तव्य है कि अपने घर की देवियों का आदर व सत्कार करें। सम्मान करें और अपने घर को ही स्वर्ग बनाएं महिंद्रा आचार्य विस्तार से देवी भागवत का वर्णन किया लगातार 13वीं बार हो रही देवी भागवत कथा के आयोजक श्रवण कुमार तिवारी गुड्डू भैया ने आए हुए मां भक्तों का वा कथा वाचक महेंद्र आचार्य व सुरभि पांडे का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

आज की कथा में पूर्व ग्राम प्रधान हरीकरन सिंह रामकुमार सच्चिदानंद तिवारी राकेश कुमार रमेश जायसवाल पदमा शुक्ला निर्मल पांडे धीरज अवस्थी राजाराम पांडे अनुज तिवारी सहित हजारों की संख्या में पुरुष व महिलाओं ने देवी भागवत का आनंद उठाया।

Comments