घरों में घुसा पानी, पीड़ितों ने स्कूल में ली शरण।

घरों में घुसा पानी, पीड़ितों ने स्कूल में ली शरण।

घरों में घुसा पानी, पीड़ितों ने स्कूल में ली शरण।

उमेश दुबे (रिपोर्टर )

सीतामढ़ी भदोही । भीषण वर्षा कर इंद्रदेव ने तबाही मचा कर रख दी है। चौतरफा पानी ही पानी दिख रहा है। चार दिन लगातार बारिश के बाद लग रहा था कि अब इंद्रदेव शांत हो जाएंगे किंतु अचानक से फिर मौसम बदला और रुकरुक कर तीन दिनों से फिर से वर्षा होने लगी है। बारिश के चलते तालाब किनारे बसे डीघ ब्लाक क्षेत्र के केवटाही गांव के दलित बस्ती के दर्जनों परिवार आपदाग्रस्त हो गए हैं। करीब आधा दर्जन परिवारों के घरों में तीन फीट की ऊंचाई तक पानी भर गया है।

बाढ़ की विभीषिका झेल रहे तीन-चार परिवारों क्रमशः शांति देवी पत्नी नन्हकू व शोभा देवी पत्नी स्व रमेश कुमार व राजकुमार पुत्र मुन्नीलाल आदि ने ग्राम प्रधान सूर्यनारायण पांडेय व लेखपाल चन्द्रप्रकाश तथा प्रधानाध्यापक ओपी विश्वकर्मा की मदद से शुक्रवार को गांव के स्कूल में शरण ले ली। पीड़ितों ने पानी से डूबे घरों से सामान निकाल ठेले पर लादकर स्कूल में पहुंचा दिया और स्वयं भी शरण ले ली। प्रधान व लेखपाल ने कोटेदार इंद्रावती देवी से खाने हेतु पर्याप्त राशन की व्यवस्था भी करा दी है।

ग्राम प्रधान ने बताया कि मोमबत्ती आदि अतिआवश्यक सामग्री की व्यवस्था भी सुनिश्चित कराई जा रही है। फिलहाल पीड़ितों के घर की दीवारें दरक गईं हैं। वह कब जमींदोज हो जाएं कुछ ठीक नहीं है। उधर पीड़ित परिवार छोटे-छोटे बच्चों समेत दर्जनों सदस्यों को लेकर किसी तरह राहत शिविर में शरण लेकर जीवन यापन करने लगे हैं। 

उधर डीघ ब्लॉक क्षेत्र के बिछिया गांव में भी हालात बेकाबू है। दलित बस्ती में भारी जलजमाव बना हुआ है। सड़क काटने की कोशिश कर रहे लोगों को गत दिनों से कुछ लोग रोक रहे हैं। शनिवार को ग्रामीण व लेखपाल जलनिकासी कराने की व्यवस्था में घटों लगे रहे। अवगत हो कि गत दिनों हुई भीषण बारिश के कारण सैकड़ों घर गिरे थे तो जान माल का भी काफी नुकसान हुआ था। लोग उससे उबर नही पाए थे और बस्तियों में भारी जलजमाव बना हुआ था। इसी बीच परसों से फिर रुक-रुक कर बारिश होने लगी। जो लोगों के लिए बड़ी आफत साबित हो रही है।

Comments