वृक्ष से संचालित होती है सृष्टि संतोष त्रिपाठी

वृक्ष से संचालित होती है सृष्टि संतोष त्रिपाठी

‌वृक्ष से ही संचालित होती है सृष्टि।

‌वृक्ष ही जीवन का आधार–संतोष त्रिपाठी

‌स्वतंत्र प्रभात
‌ प्रयागराज

‌शंकरगढ़। "वृक्ष ही जीवन का आधार है। वृक्ष से ही वर्षा होती है तथा वृक्ष ही पर्यावरण को संतुलित रखते हैं। वृक्ष ही सृष्टि के संचालक हैं अतः हमें प्राकृतिक संतुलन के लिए वृक्षारोपण अवश्य करना चाहिए" उक्त बातें आज राष्ट्र हित सेवा संस्थान के अध्यक्ष संतोष त्रिपाठी ने  यज्ञशाला तालापार में वृक्षारोपण के अवसर पर कही।
‌   ज्ञात हो कि राष्ट्रहित सेवा संस्थान ने पर्यावरण को बचाने के लिए क्षेत्र में वृहद वृक्षारोपण का संकल्प लेकर कई जगहों पर वृक्षारोपण कर रहा है । संस्थान की तरफ से गुरुवार को क्षेत्र के तालापार में स्थित यज्ञशाला में वृक्षारोपण किया गया । इस अवसर पर संस्थान के अध्यक्ष ने उपस्थित लोगों को प्रेरित करते हुए कहा कि हर व्यक्ति को कम से कम 2 पेड़ लगाने चाहिए। क्योंकि यदि पेड़ नष्ट हो जाएंगे तो पृथ्वी पर जीवन भी नष्ट हो जाएगा। इस अवसर पर मौनी बाबा, गिरिराज, जगत,  साधु मनी शंकर दुबे, श्याम नारायण द्विवेदी, मनोज तिवारी, उत्तम सिंह, अशोक त्रिपाठी, इंद्रजीत मिश्रा, राम मिलन, ज्ञानेंद्र, पंकज, सिम्मी गुप्ता, राम सिंह आदि लोग मौजूद रहे।

‌प्रयागराज से दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट।

Comments