प्रशासन की खुली नीद बेरी गांव की गौशाला पर जानवरों का भरा पेट

प्रशासन की खुली नीद बेरी गांव की गौशाला पर जानवरों का भरा पेट

कुरारा,हमीरपुर-

कुरारा विकाश खंड क्षेत्र के बेरी ग्रामपंचायत मे स्थित गौशाला पर खाने के इंतजाम ना होने पर आये दिन गायो के बछडो़ की मौत हो रही थी जिसकी खबर चलाने के बाद सचिव और ग्रामप्रधान पर विडियो रामसिंह ने खाने पीने के इंतजाम के आदेश जिस पर गौशाला पर खाने के इंतजाम देखने को मिले।

गौशाला पर खाने को तिल की खूखर डाले जाते थे।जब अधिकारियों के निर्देश पर धान का पयार आया तो तिली की खुखर को साबूत मिटाने के लिए उनको जला दिया गया उसके ऊपर पयार डाल दिया की किसी भी आधिकारी को नजर ना आये।

जब हमने गोशाला का निरीक्षण किया तो वहा पर खाने के इंतजाम तो थे मगर पानी के लिये लगे सबमरसेबल तो लगी मिली पर उसके वायर कही से भी मोटर के कनेक्शन नजर नहीं आये।वही बिजली के खंम्भे भी वही तक मौजूद होने के बाद मोटर पर कनेक्शन नहीं हुआ।

तो ऐसे में जब वहा के एक कर्मचारी से पूछताछ की तो उन्होने बताया कि जबसे पानी की मोटर लगी है जबसे आज तक चली ही नहीं है। पानी पीने के लिये टैंकर से आता है। और दोपाहर तक खतम हो जाता है।फिर जानवर इधर उधर भटकते रहते हैं और कर भी क्या सकते है।

वही सरकार गौ संरक्षण के लिए कडी मेहनत कर रही पर पर अधिकारी कुर्सी छोडने को तैयार नहीं और जिसके अंडर में गौशाला रख दी जाती है वे अपना पेट भरने में लगे हुये है।

Comments