जिलाधिकारी ने समाधान दिवस पर सभी को लगाई फटकार

जिलाधिकारी ने समाधान दिवस पर सभी को  लगाई फटकार

‌समाधान दिवस पर जिलाधिकारी ने सभी को दी चेतावनी।

‌विद्युत विभाग की मनमानी पर जिलाधिकारी भड़के।

‌ समय बद्य समाधान न हुआ तो सजा के लिए रहे तैयार।

‌स्वतंत्र प्रभात।

‌प्रयागराज।

प्रयागराज से दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट

‌जिलाधिकारी प्रयागराज श्री भानुचन्द्र गोस्वामी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस फूलपुर में पहुंचे और जनता की शिकायतों को सुना।सम्पूर्ण समाधान दिवस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज एवं सम्सत अधिकारीगण  भी मौजूद थे।

समाधान दिवस में शिकायतकर्ता अनुराग पटेल ग्राम सभा नगदलपुर  ने विद्युत विभाग द्वारा गलत बिल जनरेट होने की शिकायत की, जिसपर जिलाधिकारी ने शिकायत को गम्भीरता से लेते हुए अधिशाषी अभियन्ता (विद्युत) को कड़ी फटकार लगायी तथा पूरी बिल की फाइल को चेक कर जांच के आदेश दिए। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहां कि यदि गलती पायी गयी तो कठोरतम कार्रवाई सुनिश्चित की जायेगी।

‌उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ताओं की शिकायतों को हल्के में न लेकर उसे गम्भीरता से लिया जाना चाहिए। उन्होंने तहसील फूलपुर के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अगले सप्ताह तक छोटे प्रकरणों को सूचीबद्ध करते हुए उसे निस्तारित किया जाय।  शिकायतों को एक टाइमलाइन में निस्तारित करने की कार्यवाही की जाय। किसी भी प्रकरण को बेवजह लम्बित न रखा जाय, इसका विशेष ध्यान रखा जाय।
‌     
‌ जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार द्वारा चलायी जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी समाज के अन्तिम पात्र व्यक्ति तक पहुंचे, यह सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभागों में संचालित योजनाओं का कैम्प लगाकर व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय।
‌  
‌जिलाधिकारी ने कहा कि अधिकतर शिकायते लेखपाल एवं कानूनगों के स्तर की आती है। उन्होने  सख्त हिदायत देते हुए कहा कि  सम्बन्धित प्रकरणों को जमीनी स्तर पर जाकर निष्पक्ष जांच करते हुए प्रकरणों को निस्तारित किया जाय। प्रकरणो को बेवजह लम्बित रखने पर सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रकरण के निस्तारण में फर्जी रिपोर्ट लगाकर प्रकरण अगर निस्तारित किये गये तो सीधे बर्खास्त किया जायेगा।  

‌जिलाधिकारी ने इस बात भी जोर दिया कि प्रकरण के निस्तारण करने वाले का पूरा नाम, पद और हस्ताक्षर अवश्य होना चाहिए।
‌     
‌जिलाधिकारी ने  विद्युत की शिकायतों पर विद्युत विभाग के अधिकारियों पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया कि विडत की शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर समाधान किया जाय। बिजली विभाग के  द्वारा मौके पर कार्य नही पाया गया तो सीधे चार्जशीट लगा दी जायेगी। उन्होंने कहा कि लोगो से जुड़ी मूलभूत सुविधाओं की शिकायतों को सम्बन्धित विभाग के अधिकारी पूरी गम्भीरता से ले, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही   क्षम्य नही होगी।

इसी तरह उन्होंने सड़कों पर पशुओं के आवागमन पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की और निर्देशित किया कि सड़कों पर पशुओं का आवागमन न हो यह सुनिश्चित किया जाय। तहसील समाधान दिवस पर कुल 302 आवेदन पत्र आये, जिनमें 12 का मौके पर निस्तारण कर दिया गया। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि एक सप्ताह के अन्दर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करें।

 

Comments