पुरानी पेंशन बहाली के लिए 18 दिसंबर को होगा विशाल धरना प्रदर्शन - विनय तिवारी

पुरानी पेंशन बहाली के लिए 18 दिसंबर को होगा विशाल धरना प्रदर्शन - विनय तिवारी

ब्लॉक स्तरीय शिक्षक संघ निर्वाचन में वजीरगंज ब्लॉकध्यक्ष  के लिएसूर्यमणि पुनः हुए निर्विरोध निर्वाचित

                ब्यूरो रिपोर्ट - जयदीप शुक्ला

वजीरगंज,गोण्डा-

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ वजीरगंज के ब्लॉक स्तरीय निर्वाचन में सूर्यमणि पांडेय को एक बार फिर निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित किया गया।

वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर कन्हैयालाल मौर्या और मंत्री पद पर आनंद देव सिंह निर्वाचित हुए ।चुनाव पर्यवेक्षक अवधेश त्रिपाठी और चुनाव अधिकारी बलवन्त सिंह की देखरेख में संपन्न हुई निर्वाचन प्रक्रिया में अवनीश पांडेय कोषाध्यक्ष और चंद्रभान मौर्या संयुक्त मंत्री निर्वाचित हुए।

उपाध्यक्ष पदों के लिए रीता मिश्रा, मनोज कुमार, सुरेंद्र सिंह, राजेश तिवारी ,मोहम्मद रिजवान, संगठन मंत्री पद के लिए ज्योति सिंह, प्रदीप शुक्ला ,दिनेश कुमार, प्रदीप पांडेय, मोहम्मद अनीस और प्रचार मंत्री पद पर शैलेंद्र पांडेय,राम नरेश ,वीरेंद्र सिंह और सुधांशु मिश्रा निर्वाचित घोषित किए गए ।

वहीं अर्चना त्रिपाठी आडिटर व लेखाकार पद पर प्रदीप सिंह के साथ अजय कुमार मीडिया प्रभारी निर्वाचित घोषित किए गए ।निर्वाचन के पश्चात आयोजितअधिवेशन को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष विनय तिवारी ने पुरानी पेंशन बहाली के लिए आर-पार के संघर्ष का ऐलान किया। उन्होंने आगामी 18 दिसंबर को जिला मुख्यालय पर जोरदार धरना प्रदर्शन की घोषणा की और शिक्षकों से भारी संख्या में प्रतिभाग करने का आवाहन किया।

जिला कोषाध्यक्ष डॉ अखिलेश शुक्ला ने विभाग द्वारा लागू किए जा रहे ऐप को शिक्षा और शिक्षक के हितों के विपरीत बताया और कहा कि यह किसी भी प्रकार से शिक्षा और शिक्षक समाज के हित में नहीं हैं ।

इस अवसर पर नवाबगंज ब्लॉक अध्यक्ष सुशील पांडेय, प्रदीप सिंह दिनेश मिश्रा, संजय सिंह, काली प्रसाद, पूर्व ब्लॉक समन्वयक रामधन पांडेय, प्रमोद सिंह, राजनाथ मिश्रा ,गणेश दत्त त्रिपाठी, गिरीश चंद पांडेय, नन्द कुमार मिश्रा, ओमप्रकाश पांडेय, आनंद शुक्ला, मनोज शर्मा ,अमर बहादुर सिंह ,दीप्ति तिवारी, ज्योति गुप्ता सहित सैकड़ों शिक्षक एवं संगठन पदाधिकारी मौजूद रहे ।कार्यक्रम की अध्यक्षता केंद्रीय विद्यालय के प्रधानाध्यापक बालकराम मिश्रा और संचालन राज्य पुरस्कार प्राप्त शिक्षक डॉ राजेश प्रताप सिंह ने किया।

Comments