पीआरवी 1762 की सजगता से, दो मासूम बच्चों को परिवार से मिलाया

सताँव(रायबरेली)गुरुबख्श गंज थाना क्षेत्र की पी०आर०वी० 1762 नें सोमवार की देर शाम धनतेरस के त्यौहार के दिन एक गरीब परिवार के दो मासूम लावारिस घूम रहे, बच्चों को उनके घर वालो से मिलाकर उस परिवार की खुशियाँ लौटा दी। दोपहर को गायब हुए दोनों मासूम बच्चों के परेशान परिजनों को जब पुलिस द्वारा यह जानकारी दी गई कि उनके गायब हुए बच्चे गुरुबख्श गंज  पुलिस के पास सुरक्षित है तो घर के लोगों खुश हुए ।

जानकारी के अनुसार भट्ठा मजदूर रामअचल लोधी निवासी भटपुरा थाना मौरांवा जनपद उन्नाव के दो मासूम बेटे सत्यम(5वर्ष)और शैलेन्द्र(3वर्ष) सोमवार की दोपहर घर से गायब हो गये थे। दिनभर बच्चों के परिजन उनकी खोज करते रहे लेकिन कही पता नही लग रहा था धनतेरस का त्यौहार मातम में बदल रहा था तभी देर शाम गुरुबख्श गंज  थानें की पीआरवी 1762 के सिपाही ओ०पी०यादव का फोन जब परिजनों के पास पहुंचा और यह जानकारी दी गई कि उनके दोनों बच्चे गुरुबख्श गंज  थानें में सुरक्षित है आप आकर इन्हे ले जाइये। यह जानकारी मिलते ही मातम में डूबे परिवार में खुशी की लहर दौड़ पड़ी।मासूम बच्चों के बुजुर्ग बाबा मथुरा लोधी आनन-फानन में गुरुबख्श गंज थानें आ पहुंचे और बच्चों को देखते ही छलकती आंखों से सिपाही ओ०पी० यादव को गले लगाकर बोले साहब आप हमारे लिए भगवान हो गये।
पीआरवी 1762 के सिपाही ओ०पी०यादव नें बताया कि सोमवार की देर शाम क्षेत्र के गढ़ी दूलाराय गाँव से प्रताप सिंह नाम के एक सज्जन का फोन आया और यह जानकारी दी गई कि उनके गाँव में दो लावारिस बच्चे घूम रहे है।मौके पर एस०आई० देवेन्द्र सिंह व  ओ०पी०यादव  ने बच्चों को बहला फुसलाकर पूंछा तो वह सिर्फ अपनें गाँव का नाम भटपुरा बता पाये। हम लोगों को काफी मशक्कत के बाद भटपुरा के ग्रामप्रधान का नम्बर मिला जिससे इस बात की जानकारी  हुई कि उनके यहाँ के रामअचल लोधी के दो बच्चे गायब हुए है। तब बच्चों के परिजनों को सूचना दी गई और बच्चों को उनके सुपुर्द कर दिया गया।।                                         

Loading...
Loading...

Comments