सड़कों पर आवारा सांड़ो के आतंक से बढ़ रही दुर्घटनाएं

सड़कों पर आवारा सांड़ो के आतंक से बढ़ रही दुर्घटनाएं

रायबरेली -

जिले में लगातार आवारा पशुओं की बढ़ती जनसंख्या से एक ओर जहां ग्रामीण किसान परेशान हैं दबंग आवारा सांड़ो ने सड़क व चौराहों पर कब्जा जमा रखा है।

जिससे सड़क दुर्घटनाओं में भारी इजाफा हुआ है इन सांड़ो के आतंक से सड़क पर चलने वाले पैदल यात्री साइकिल सवार दो पहिया वाहन व चार पहिया वाहनों की गति प्रभावित होती है जिससे चौराहों व गलियों में आए दिन जाम की स्थिति पैदा हो रही है।

इन आवारा पशुओं के आतंक से किसान अपनी फसल बचाने के लिए रात दिन खेतों में गुजार रहे हैं खेतों में झुंड के झुंड आवारा पशु खेत में घुस जाते हैं चंद्र घंटों में ही खेत को चर कर नष्ट कर देते हैं।

आवारा पशुओं से निजात दिलाने के लिए सरकार द्वारा लिया गया फैसला भी दम तोड़ता  नजर आ रहा है सरकार ने गौशाला निर्माण कराकर उसमें आवारा पशुओं को बंद करने के लिए जगह-जगह गौशालाएं तो बनवा दी हैं।

लेकिन आखिर इन दबंग सांड़ो को कौन पकड़ कर ले जाए और अपनी जान जोखिम में डाले कुछ किसानों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आवारा पशुओं को गौशाला में बंद करने के लिए 400 से 500 रुपए प्रति पशु गौशाला में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा वसूला जाता है।

जिसकी वजह से आम ग्रामीण पशुओं को बंद करने के लिए नहीं ले जा पाते हैं इस स्थिति में किसान अब क्या करें अपनी फसलों को बचाए या 500 600 रुपए देकर पशुओं को गौशालाओं में बंद करें सरकार को आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए शासन स्तर से टीम गठित करके गांव खेतों व चौराहों पर तांडव मचा रहे आवारा सांड़ो से किसानों व राहगीरों को परेशानी से निजात दिलाने हेतु ठोस कदम उठाना चाहिए ।

Comments