पंकज महाराज ने बृहद सत्संग कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को शाकाहारी व सदाचारी और नशा मुक्ति जीवन जीने हेतु किया प्रेरित

पंकज महाराज ने बृहद सत्संग कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को शाकाहारी व सदाचारी और नशा मुक्ति जीवन जीने हेतु किया प्रेरित

रायबरेली-

सतांव क्षेत्र के गुरुबक्शगंज और सतांव के मध्य स्थित पुराना गन्ना कांटा मैदान में मंगलवार की मध्यान्न प्रख्यात संत बाबा जयगुरुदेव  के  शिष्य पंकज जी महाराज ने एक वृहद सत्संग कार्यक्रम के माध्यम से हजारों लोगों को शाकाहारी, सदाचारी और नशा मुक्त  जीवन जीने हेतु प्रेरित किया।

पूर्व निश्चित कार्यक्रम के अनुसार मंगलवार की सुबह ही हजारों की संख्या में जय गुरुदेव के अनुयायी और क्षेत्रीय लोग पुराने गन्ना कांटा मैदान में एकत्रित हो गये। सद्गुरु पंकज जी महाराज ने सत्संग के माध्यम से लोगों को शाकाहारी,सदाचारी और नशामुक्त जीवन जीने हेतु प्रेरित किया। उन्होने बताया कि परमपूज्य जय गुरुदेव जी समाज में परिवर्तन लाना चाहते थे। गुरुदेव जी को यह मालूम था कि परिवर्तन लोगों की सोच और आचरण को बदलकर ही लाया जा सकता है, और उसी दिशा में जीवनपर्यन्त (116 वर्ष की आयु तक) निरन्तर प्रयत्न करते हुए लोगों को सत्मार्ग पर चलने हेतु प्रेरित करते रहे।

इसी का परिणाम था कि गुरुदेव के विचारों से प्रेरित होकर लाखों लोग उनके अनुयायी बन गये और मांसाहार और नशे को त्यागकर शाकाहारी और सदाचारी जीवन ब्यतीत करने लगे।

पंकज जी महराज ने बताया कि ब्यक्ति के खान-पान के अनुसार ही उसका आचरण भी हो जाता है इसी लिए कहा जाता है "जैसा खाओगे अन्न, वैसा बनेगा मन"। सत्संग के अन्त में पंकज जी महराज ने अपील की कि  "सभी लोग चाहे वह जिस धर्म, जिस जाति के हो मांसाहार और नशे का त्याग करें तभी उनका उत्थान सम्भव है।

राजेश कुमार 

Comments