अपात्रओ को आवास, पात्र हैं खाली हाथ

अपात्रओ को आवास, पात्र हैं खाली हाथ

 

 लखनऊ /

  लखनऊ 

 

पीएम आवास योजना महोना की कारगुजारी पूर्व ईओ वर्तमान अध्यक्ष की मिलीभगत से तमाम अपात्र ओं को रेवड़ी की तरह दिए है प्रधानमंत्री आवास। पात्र व्यक्ति  दर-दर की ठोकरें  खाने को मजबूर।

 

बीकेटी तहसील की नगर पंचायत  महोना लखनऊ  में 2016 से लगातार प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत हजारों की तादात में प्रधानमंत्री आवास बन रहे हैं लेकिन पूर्व ईओ राजीव कुमार एवं वर्तमान अध्यक्ष की मिलीभगत से तमाम अपने चहेतों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पहुंचाने की नीयत से तमाम अपात्रओं को पात्र बना दिया और बहुत से पात्रों को अपात्र घोषित कर दिया 

जिससे नगर पंचायत महोना के दसों वार्डों में भारत सरकार के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना लागू है नगर पंचायत महोना का वर्तमान अध्यक्ष अपनी मनमानी पर उतारू है यदि कोई पात्र व्यक्ति नगर पंचायत कार्यालय महोना लखनऊ में आवास के लिए जाता है तो वर्तमान अध्यक्ष उन लोगों को पहले कहता है कि जलकर जमा करो हाउस टैक्स जमा करो उसके बाद में देखेंगे यह कहकर बहुत से पात्रों के फार्मो को नगर पंचायत के कर्मचारियों के द्वारा स्कूटनी में गायब कर दिए जाते हैं और सिर्फ अध्यक्ष के चहेतों के आवास की सूची डूडा कार्यालय भेजी जाती है

 जिसमें डूडा के परियोजना अधिकारी से भी कई लोगों ने इस तरह की शिकायत की लेकिन वर्तमान अध्यक्ष की दबंगई के आगे नगर पंचायत महोना की जनता पूरी तरह विवश है नगर पंचायत महोना के अंदर सरकारी पैसे का इस तरह होता है दुरुपयोग तीन आदमियों के काम की जगह पर 15  20 लोगों को ठेकेदारी प्रथा के तहत आउटसोर्सिंग पर नियुक्त कर रखा है जबकि नगर पंचायत महोना में इतना बड़ा कोई कार्य या इतनी बड़ी नगर पंचायत महोना  है भी नहीं है

जहां पर 20 से 25 कर्मचारियों की जरूरत नहीं है लेकिन कमीशन बाजी के चक्कर में 20 से 25 लोगों को आउट आउटसोर्सिंग के जरिए नगर पंचायत महोना में कार्य के नाम पर नियुक्त कर रखा है कई कर्मचारी नगर पंचायत अध्यक्ष के घर पर आगे पीछे व व्यक्तिगत कार्यों में लिप्त रहते हैं स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत झूठी रिपोर्ट शासन को भेजकर ओडीएफ घोषित कर दिया जबकि सुबह शाम नगर पंचायत के आवाम खुले में शौच करने सुबह शाम आते जाते देखा जा सकती है 

जबकि नगर पंचायत महोना के अंदर उच्च न्यायालय हाई कोर्ट  के आदेशों की खुली  आवेहलना  कर रहे हैं तालाबों को पाटकर प्रधानमंत्री आवास बनवाए जा रहे हैं लेकिन पंचायत महोना प्रशासन आंखें बंद किए हुए हैं वर्तमान ईओ महिमा मिश्रा से दूरभाष पर वार्ता के बाद कहा है कि जो भी अपात्र को आवास दिए गए हैं उनकी पुनः जांच अपने अस्तर से करा कर गलत पाए जाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी और प्रधानमंत्री आवास योजना में प्राप्त धनराशि की रिकवरी करवाई जाएगी

Comments