अब राम मंदिर मुद्दे को गरमाएंगे नागा साधु, 4-5 दिसंबर को अयोध्या कूच की तैयारी

अब राम मंदिर मुद्दे को गरमाएंगे नागा साधु, 4-5 दिसंबर को अयोध्या कूच की तैयारी

अब राम मंदिर मुद्दे को गरमाएंगे नागा साधु, 4-5 दिसंबर को अयोध्या कूच की तैयारी

रविवार को प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की आपातकालीन बैठक हुई थी. बैठक में कहा गया कि संतों को अब सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा नहीं रह गया है.

    

अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस की तारीख 6 दिसंबर के नजदीक आते-आते हलचल तेज हो गई है.  राजनीतिक दलों के साथ-साथ विभिन्न हिन्दू संगठनों और साधु-संतों ने राम मंदिर निर्माण की मांग तेज कर दी है. हाल ही में शिवसेना के आशीर्वाद समारोह और विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी) की विराट धर्मसभा के बाद अब नागा साधुओं के अयोध्या कूच करने का ऐलान किया है.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के निर्णय के अनुसार लाखों की संख्या में साधु-संत  4 व 5 दिसंबर को राममंदिर निर्माण के लिए अयोध्या कूच करेंगे, इनमें बड़ी संख्या में नागा साधु भी शामिल होंगे.


रविवार को प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की आपातकालीन बैठक हुई थी, जिसमें यह फैसला लिया गया. बैठक में कहा गया कि संतों को अब सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा नहीं रह गया है. संतों के अयोध्या कूचका कार्यक्रम राम मंदिर निर्माण के लिए है. संत वहां पहुंचकर रामलला स्थल के बाहर इकट्ठे होंगे और सरकार पर मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने या अध्यादेश लाए जाने का दबाव बनाएंगे. साधुओं के इस ऐलान के बाद अयोध्या में हलचल तेज हो गई है.

बता दें कि इससे पहले धर्मसेना 6 दिसंबर को रामंदिर के लिए अनशन करने और महंत परमहंसदास मंदिर निर्माण की तिथि न बताने पर आत्मदाह की धमकी दे चुके हैं. वहीं राममंदिर निर्माण की बाधाओं को दूर करने के लिए विश्व वेदांत संस्थान के तत्वाधान में अश्वमेध महायज्ञ किया जा रहा है,

जिसमें विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान हो रहे हैं. राम मंदिर के लिए हो रहे विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों के बीच प्रशासन पूरी तरह सतर्क है.

Loading...
Loading...

Comments