तुगलकी फरमान,हुक्का पानी बंद

तुगलकी फरमान,हुक्का पानी बंद

तुगलकी फरमान,हुक्का पानी बंद

जिला संवाददाता नरेश गुप्ता की रिपोर्ट

             स्वतंत्र प्रभात न्यूज़

सदरपुर सीतापुर पश्चिमी यूपी से अभी तक खाप पंचायत के द्वारा तुगलकी फरमान जारी किया जाता था लेकिन अब ऐसा ही एक फरमान यूपी के सीतापुर में भी जारी हुआ है। जिसमें भैंसा चोरी के एक मामले में पंचायत ने पीड़ित दलित परिवार के खिलाफ तुगलकी फरमान जारी कर दिया। आपको बता दें कि पीड़ित की ही भैंसे चोरी हुई और उसी को पंचायत ने तुगलकी फरमान सुना दिया। इस फरमान में पंचायत ने पीड़ित परिवार का हुक्का पानी बंद कर दिया। इतना ही नहीं एक लाख रुपए का जुर्माना भी बोला है। इस तुगलकी फरमान के बाद पीड़ित परिवार सदमे में है ।

 

बाइट - प्रेम (पीड़ित दलित)

V/O-  सीतापुर से 55 किलोमीटर की दूरी पर सदरपुर इलाके का पोखरा कला गांव जिसमें कसम खिलाने पर एक परिवार का हुक्का पानी बंद कर दिया गया और एक लाख रुपए व 7 जवार को खाना खिलाने का तुगलकी फरमान पंचायत ने सुनाया। इतना ही नहीं सोनकर बिरादरी के सैकड़ों गांव में बसे लोगों को फैसले की चिट्ठियां भी भेज दी गई। समाज से बहिष्कृत परिवार भागा भागा घूम रहा है। सामाजिक उत्पीड़न के इस मामले में सदरपुर थाना इलाके के पोखरा कला गांव के रहने वाले प्रेम के घर के दरवाजे से दो भैंसे चोरी हो गए थे। पीड़ित ने 7 दिसंबर को थाने में एक प्रार्थना पत्र भी दिया था। कुछ दिन बाद गांव के ही रहने वाले इंदल पर शक हुआ और गांव वालों ने मिलकर पंचायत बैठा दी। सबको कसम खाने पर सहमति बनाई गई लेकिन पीड़ित प्रेम  पंचायत में नहीं पहुंचा तो पंचायत ने तुगलकी फरमान जारी कर दिया।

बाइट - देवाराम (फरमान सुनाने वाला पंच)

V/O-2-वहीं इस मामले पर एएसपी मधुबन सिंह का कहना है कि भैंसा चोरी के मामले में पंचायत बुलाई गई। जिसके बाद दोनों पक्षों को कसम खिलाई गई। बात न बनने पर पीड़ित पक्ष का हुक्का पानी बंद कर दिया गया। इस मामले में थाने में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। विवेचना जारी है।

 

रिपोर्ट - मनोज कुमार महमूदाबाद सीतापुर।

Comments