कार्य में शिथिलता किसी भी कीमत पर क्षम्य नही: सांसद

कार्य में शिथिलता किसी भी कीमत पर क्षम्य नही: सांसद

ज्ञानपुर। जिला कलेक्ट्रेट सभागार मे आयोजित जिला विकास समन्वय निगरानी समिति(दिशा) की बैठक में विकास कार्याे की समीक्षा की गई । बैठक को संबोधित करते हुए सांसद वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि कार्य का परिणाम आना चाहिये, किसी भी प्रकार उत्तर-प्रतित्तर नही होना चाहिये तभी कार्य की प्रगति दृष्टिगत होगी इसके लिये अपनी-अपनी जिम्मेदारी सभी कोे निभानी होगी। लाभार्थीपरक योजनाओं/निर्माण कार्यो से सम्बन्धित विभागो के अधिकारीगण अपने-अपने विभागों के निर्माण/विकास कार्यो को समय सीमा के भीतर पूर्ण कराया जाय। इस कार्य में शिथिलता किसी भी कीमत पर क्षम्य नही होगी। लोकतंत्र में संवाद से ही समस्याओ का समाधान होना चाहिए, शासन प्रशासन जनप्रतिनिधि सब मिल कर पारदर्शी ढ़ग से निष्ठा/ईमानदारी पूर्वक विकास कार्यो में अपनी-अपनी भागीदारी निभाकर कार्यो को सम्पादित करायेगे तभी सर्वागीण विकास होगा। इस अवसर पर सांसद वीरेन्द्र सिंह ने उपरोक्त निर्देश करते हुए दिए उन्होने कहा कि जो भी कार्य जनहित में किये जाने है उन्हे मानक के अनरुप जनहित में कराये तभी कार्य की सार्थकता सिद्व होेगी। उन्होने कहा कि जो भी कार्य अभी अधूरे पडे है उन्हे शीघ्रता से पूर्ण करायें। इस के साथ ही कहा कि 52 बीघा तालाब सूरियावॉ का सुन्दरीकरण कराया जाय। साथ ही डी0सी0मनरेगा को निर्देश दिया कि भेड़ पालकों के लिए 10 प्रमुख स्थानो पर आश्रय बनवाने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री के 8 सड़को की जॉच के लिए त्रिस्तरीय कमेटी गठित की और एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। एस0सी0एस0टी0 के मामले में जायज मुकदमें दर्ज हो नजायज मुकदमें कत्तई दर्ज न हो। साथ ही श्रमिक पंजीयन अधिकारी को निर्देश दिया कि ब्लाकों में कैम्प लगाकर अधिक से अधिक श्रमिक मजदूर पंजीयन कराये। स्वास्थ्य विभाग से संबंधित योजनाओं की समीक्षा के दौरान पाया गया कि जिला अस्पताल महिला/पुरुष सहित जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो पर योजनाओं का सुचारु रुप से सम्पादन किया जा रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि जनपद में शासन द्वारा संचालित योजनाओं को पूरी तत्परता के साथ चलाया जा रहा है और किसी भी स्वास्थ्य केन्द्र आदि पर दवा की कोई कमी नही है। दवा पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं उन्होने बताया कि मिजिल्स और रुबेला टीकाकरण कार्य बहुत ही अच्छा हो रहा है, जिससे जनपद प्रदेश में अग्रिम पंक्ति में अपना स्थान बना सका है। बैठक में बैंको की कार्य प्रणाली अच्छी न पाये जाने पर सांसद ने नाराजगी व्यक्त् करते हुए आगाह किया कि आपलोग बडे-बडे ऋण आसानी से स्वीकृत कर देते है जबकि प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना आदि से संबंधित पत्रावलियों को लम्बित छोड देते है जिससे नौजवानो को रोजगार नही मिलता है और वे परेशान रहते है। उन्होने कहा कि आपलोग अपने व्यवहार में शालिनता बरतते हुए अपने दायित्वो का निर्वहन करे और अधिक से अधिक राजेगार से ऋण संबंधित पत्रावलियों को स्वीकृत करें जिससे बेरोजगारो को रोजगार मिल सके और वे देश/प्रदेश के विकास में सहभागी हो। उन्होने कहा कि इसके लिये आप सब को संवेदनशीलता दिखानी होगी तभी यह कार्य परवान चढेगा और जन कल्याणकारी योजनाओं का उद्देश्य भी पूर्ण होगा। उन्होने कहा कि आपलोग मुद्रा लोन मेला का कार्य क्रम तैयार करके तिथियां निर्धारित करते हुए जन प्रतिनिधियों को अवगत कराये जिससे उनके आयोजन में जनप्रतिनिधि भी अपनी भूमिका अदा कर सके और बेरोजगारो को ऋण प्राप्त हो सके। इस अवसर पर जिलाधिकारी राजेन्द्र प्रसाद ने जनप्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि आप द्वारा दिये गये सुझावो/कार्याे को मानिटरींग कराते हुए शीघ्रता के साथ गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण कराया जायेगा, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता/अनियमितत पाये जाने पर संबंधित की जिम्मेदारी निर्धारित करते हुए उसके विरुद्व कठोर कार्यवाही की जायेगी। कार्यक्रम का संचालन मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह ने किया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष काजल यादव, विधायक ज्ञानपुर विजय मिश्रा, सांसद प्रतिनिध शैलेन्द्र दुबे, भाजपा जिलाध्यक्ष हौसिला प्रसाद पाठक, प्रदेशमंत्री नागेन्द्र सिंह, जिलाधिकारी राजेन्द्र प्रसाद, मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा0आर0बी0मौर्य, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमित कुमार सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष भदोही अशोक कुमार जायसवाल, जिला विकास अधिकारी जयकेश त्रिपाठी, के आलावा अन्य विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments