‘सा रे गा मा पा‘ को प्रमोट करने दिल्ली पहुंचीं जज ऋचा शर्मा

‘सा रे गा मा पा‘ को प्रमोट करने दिल्ली पहुंचीं जज ऋचा शर्मा

 कुछ शोज लोकप्रिय होते हैं और कुछ यादगार, लेकिन कुछ शोज ऐसे होते हैं जो हमेशा के लिए एक मिसाल बन जाते हैं। जी टीवी का अग्रणी शो ‘सा रे गा मा पा‘ ऐसा ही एक प्रतिष्ठित मंच है, जो हर सीजन में न सिर्फ नए अंदाज में नजर आया बल्कि इसने शुद्ध संगीत का जश्न मनाने के लिए सारे देश को भी एक साथ लाया।

पिछले साल ‘सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स‘ की जबर्दस्त सफलता के बाद, जी टीवी ने हाल ही में अपने मशहूर सिंगिंग रियलिटी शो ‘सा रे गा मा पा‘ का नया सीजन लाॅन्च किया है। सभी के लिए संगीत के मूल विचार के साथ #म्यूजिक से बने हम के जरिए ‘सा रे गा मा पा‘ का नया सीजन संगीत को सारी दुनिया की एक भाषा के रूप में पेश करता है, जो सारी इंसानियत को एकजुट करता है। ‘सा रे गा मा पा‘ का नया सीजन जाति, धर्म, रंग, समुदाय और लिंगभेद के खिलाफ खड़े होकर सिर्फ टैलेंट पर ही केंद्रित है,

और सभी को शामिल करने का एक मजबूत संदेश देता है। अनेक राउंड के ऑडिशंस के बाद इस शो ने अब अपने टॉप 15 प्रतिभागी चुन लिए हैं। इस शो में हाल ही में मल्टी टैलेंटेड सिंगर ऋचा शर्मा, सोना महापात्रा की जगह जज बनकर आई हैं क्योंकि सोना को कुछ अपरिहार्य परिस्थितियों के चलते इस सीजन को छोड़कर जाना पड़ा था। अब ऋचा शर्मा ने उनके घराना की कमान संभाल ली है। इस घराना में शामिल हैं – सुशांत दिवगीकर, साहिल सोलंकी, तन्मय चतुर्वेदी, सुप्रीत चक्रवर्ती और भरत के. राजेश जैसे प्रतिभागी।


ऋचा शर्मा ने कहा, ‘‘सा रे गा मा पा देश के सिंगिंग टैलेंट का सबसे प्रतिष्ठित मंच है। करीब एक दशक पहले मैं जी टीवी के सबसे पहले नॉन-फिक्शन म्यूजिक शो ‘अंताक्षरी‘ की होस्ट रह चुकी हूं। इससे पहले भी मैं ‘सा रे गा मा पा‘ के कुछ एपिसोड्स में स्पेशल गेस्ट बनकर आई हूं। इस सीजन में शेखर और वाजिद के साथ जजों के पैनल में शामिल होना बड़े सम्मान की बात है। सभी जजों ने ऑडिशन के दौरान सर्वश्रेष्ठ टैलेंट को चुना है। मुझे सभी प्रतिभागी बेहद पसंद हैं, सभी बेहतरीन है।

एक जज के रूप में मैं अपने घराना यानी ‘ऋचा का घराना‘ के प्रतिभागियों का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन बाहर लाने में पूरी मदद करूंगी, ताकि वे एक मंझे हुए म्यूजिक प्रोफेशनल बन सकें।‘‘ अपनी यात्रा को लेकर ऋचा कहती हैं, ‘‘आज दिल्ली आकर बहुत अच्छा लग रहा है। चूंकि मैं फरीदाबाद से हूं इसलिए जब भी मैं इस शहर में आती हूं तो मुझे घर जैसा लगता है। यहां के लोग और संस्कृति आपका दिल से स्वागत करते हैं। आज इस शहर में मुझे कुछ शानदार वक्त बिताने का भी इंतजार है।‘‘


प्रतिभागी साहिल सोलंकी ने कहा, ‘‘सा रे गा मा पा सबसे बड़ा और सबसे प्रतिष्ठित सिंगिंग प्लेटफॉर्म है। ऐसे टैलेंटेड और शानदार सिंगर्स के बीच आकर मैं खुद को सम्मानित महसूस कर रहा हूं। इसके अलावा ज्यूरी मेंबर्स और हमारे जजेस भी हमारे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए हमें मार्गदर्शन देते हैं और प्रशिक्षित करते हैं। मुझे उम्मीद है कि आने वाले एपिसोड्स में मैं अपनी परफॉर्मेंस से दर्शकों का खूब मनोरंजन करूंगा।‘‘


प्रतिभागी तन्मय चतुर्वेदी ने कहा, ‘‘मैं सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स 2008 का हिस्सा रह चुका हूं, और एक बार फिर प्रतिभागी के रूप में इस मंच पर वापसी करना बहुत शानदार अनुभव है। मंच पर हर प्रतिभागी की अपनी एक अनूठी शैली होती है और मुझे भी अपने सिंगिंग स्टाइल से दर्शकों का मनोरंजन करने का इंतजार है। मुझे उम्मीद है कि ‘सा रे गा मा पा‘ में मेरे संगीत में सफर के दौरान दर्शक मेरी परफॉर्मेंस को एंजॉय करेंगे और मुझे अपना सपोर्ट देंगे।‘‘


इस शो के पिछले कुछ एपिसोड्स में कुछ बेहद टैलेंटेड सिंगर्स भी नजर आए, जिन्होंने मनोरंजन को एक नए स्तर पर पहुंचाया। एलजीबीटीक्यू कम्युनिटी के सुशांत दिवगीकर इसमें रानी कोहिनूर बनकर सभी को आकर्षित कर रहे हैं, जो एक ही समय पर पुरुष और महिला दोनों की आवाज में गाते हैं।

सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स के पूर्व प्रतिभागी तन्मय चतुर्वेदी इस शो में सिंगिंग सुपरस्टार बनने का अपना सपना लेकर मंच पर लौट आए हैं। मधुर आवाज वाली मणिपुर की मंदाकिनी ने साबित कर दिया कि नेत्रहीनता उनके सपनों में रुकावट नहीं डाल सकती और उनकी आवाज ही उनकी सच्ची पहचान है।

‘सा रे गा मा पा‘ के फैंस को इसमें इसी तरह शानदार आवाजों का तोहफा मिलेगा जहां ‘सा रे गा मा पा‘ के प्रतिभागी अपनी सुनहरी आवाज से अपना जादू चलाएंगे।

Loading...
Loading...

Comments