पर्यावरण बचाओ महाभियान टीम द्वारा प्राकृतिक खेती व  रासानिक खेती के बताये गए गुर  ग्रामीणों ने लिया आयोजन में बढ़चढ़ लिया हिस्सा 

पर्यावरण बचाओ महाभियान टीम द्वारा प्राकृतिक खेती व  रासानिक खेती के बताये गए गुर  ग्रामीणों ने लिया आयोजन में बढ़चढ़ लिया हिस्सा 

संवाददाता- सुमित शर्मा

बहराइच   

बीते दिवस जपपद बहराइच के पयागपुर तहसील  पर्यावरण बचाओ महाभियान टीम द्वारा ग्राम सुलतानामाफी में प्राकृतिक खेती  व  रासानिक खेती के बताये गए गुर   ? इस विषय पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया। टीम के अगुवा रामकुमार युगान्तर ने उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि

गोआधारित प्राकृतिक खेती करके पृथ्वी पर स्वर्ग लाया जा सकता है उन्होंने तफसील से बताया कि रासानिक खेती से खेत के मित्र कीड़े व केचुआ समाप्त हो गए है जिसका परिणाम है कि हमारे मिट्टी का उपजाओ पन चला गया है और वाटर रिचार्जिंग की समस्या खड़ी हो गई है इस प्रकार हमारे सामने खाद्यान्न और पानी

दोनो का संकट खड़ा हो गया है इसके अतिरिक्त हवा पानी और अनाज के विशाक्त हो जाने से हमारा तन और मन दोनों वीमार हो गया है रसायन का प्रयोग करने से हमारे उत्पाद को कोई लेने को तैयार नहीं है जिससे मूल्य घट गया है गोवंश को लोगों ने अनुउपयोगी मानकर छुट्टा छोड़ दिया है

जिससे छुट्टा जानवरों की समस्या खड़ी हो गई है इनसारी समस्याओं का समाधान गोआधारित खेती में है जीवामृत घन जीवामृत से खेती करने से उपजाऊपन बढेगा वाटर रिचार्जिंग होगी और औषधिय ओर लज्जतदार उत्पादन होगा खर्चा घटेगा अच्छी कीमत मिलेगी

हवा पानी सब दुरुस्त हो जायेगा इस प्रकार किसान स्वस्थ और खुशहाल हो जाएगा और सरकार की आमदनी भी बढ़ जायेगी अच्छा अन्न खाने से मन भी सन्त रहेगा इस प्रकार गोआधारित खेती करके पृथ्वी पर स्वर्ग लाया जा सकता है इस मोके पे सुरेंद्र गिरी रामकुमार युगान्तर अशोक , सुरेंद्र पाठक इत्यादि  लोग मौजूद थे 

Comments