विद्युत विभाग की बड़ी लापरवाही सालों से नहीं आ रहे गरीब किसानों के बिजली के बिल

विद्युत विभाग की बड़ी लापरवाही सालों से नहीं आ रहे गरीब किसानों के बिजली के बिल

नरेश गुप्ता /अमित मिश्रा की रिपोर्ट

विद्युत विभाग की बड़ी लापरवाही सालों से नहीं आ रहे गरीब किसानों के बिजली के बिल

 गरीब मजदूर और किसान कैसे चुकाएंगे सालों के बिल की रकम


गरीब परिवारों को बिल भुगतान करने में होगी बड़ी परेशानी 

दो वक्त की रोटी के लिए मजदूरी कर रहे किसान और मजदूर कैसे करेंगे लंबी रकम का भुगतान

महमूदाबाद के विद्युत उपकेंद्रों के मीटर रीडरों की मनमानी के चलते  बिजली बिलिंग की कार्यशैली से गरीब उपभोक्ताओं के लिए सिरदर्द साबित हो रही है। जहां एक ओर विभाग बिजली बिल जमा नहीं करने पर नोटिस भेजने और कनेक्शन काटने की कार्रवाई अमल में लाता है। वहीं, दूसरी ओर उपभोक्ताओं की शिकायत के एक वर्ष बाद भी न तो मीटरों की रीडिंग ली जा रही है और न ही बिल भेजे जा रहे हैं।रायपुर, डलमऊ,उसमैलापुर, डेबरीपुर,अम्बरपुर, गनेशपुर आदि गांवों के सैकड़ों उपभोक्ताओं को लगभग एक वर्ष से बिजली के बिल नहीं मिले हैं।

गरीब उपभोक्ताओं का आरोप है कि विभाग पहले भी ऐसी लापरवाही करता रहा है और उन्हें 5 से 10 हजार रुपयों का एकमुश्त बिल भेज दिया जायेगा ऐसे में गरीब उपभोक्ता बिजली बिल कैसे जमा कर पायेगा। बिजली उपभोक्ताओं का कहना  है कि विभागीय अधिकारियों से बिजली बिल नियमानुसार निर्धारित समय पर भेजने हेतु अनेक बार कहा जा चुका है। लेकिन विभागीय अधिकारी मामले में टालमटोल कर रहे हैं। प्रताप यादव,सुखलेश, अशोक,चोनू, सियाराम,संजय सहित बिल मिलने से वंचित उपभोक्ताओं ने बिल देने और गरीबों से किश्तवार बिल भुगतान लेने की मांग की है। इधर, कंचनपुर उपकेन्द्र के अवर अभियंता संदीप शुक्ला ने कहा कि बिलों की रीडिंग समय पर नहीं होने की शिकायत मिली है। रीडिंग हेतु विभागीय मीटर रीडर को कह दिया गया है।

लेकिन अभी तक मामले में कार्रवाई नहीं होने की पुनः शिकायत आ रही है। शीघ्र कर्मचारियों को रीडिंग के लिए भेजा जाएगा। वहीं अवर अभियंता महमूदाबाद ने बताया बिल रीडर बिल सही से नही निकालते हैं शिकायत मिली है | केदारपुर के अवर अभियंता धर्मेन्द्र कुमार ने बताया बिल रीडर मनमानी करते है जबकि बिल रीडरों को उपकेंद्र पर आने के बाद बाबू से मिलने के बाद ही क्षेत्र में जाना चाहिए जिससे  उपभोक्ताओं को बताया जा सके बिल रीडर कहाँ हैं|इस मामले में उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया ऐसे बिल रीडरों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी|

Comments