शिक्षा के क्षेत्र में अब ग्रामीण इलाके भी होंगे हाईटेक: सशक्त सिंह 

शिक्षा के क्षेत्र में अब ग्रामीण इलाके भी होंगे हाईटेक: सशक्त सिंह 

शिक्षा के क्षेत्र में अब ग्रामीण इलाके भी होंगे हाईटेक: सशक्त सिंह 


•    आर्यकुल  सीतापुर में  हुआ  नवागमन- 2019 का आयोजन 

 नरेश गुप्ता ब्यूरो रिपोर्ट

सीतापुर उत्तर प्रदेश आर्यकुल  कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी एंड रिसर्च सीतापुर में 'नवागमन-2019' (अभिविन्यास कार्यक्रम) से नये सत्र का शुभारम्भ किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारम्भ कॉलेज के चेयरमैन के. जी. सिंह, मैनेजिंग डायरेक्टर सशक्त सिंह, मुख्य अतिथि के रूप में अतरौली जिला पंचायत सदस्य उमा सिंह, डायरेक्टर महिला सामाख्या डॉ. स्मृति सिंह और एस.ओ. पुष्पराज कुशवाहा ने किया। कार्यक्रम में आये अतिथि गणों का पुष्पगुच्छ और मोमेंटो देकर उनका स्वागत किया गया।


कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना और दीप प्रज्वलन से की गयी। इसके बाद ACPR सीतापुर के प्रिंसिपल प्रो। आर के जोहरी ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि अगर हम मानव जीवन में परिवर्तन चाहते हैं तो इसके लिया शिक्षा बहुत जरूरी है। इसके पश्चात कॉलेज के चेयरमैन केजी सिंह ने कार्यक्रम में उपस्थित समस्त अतिथिगणों व विद्यार्थियों का स्वागत किया। इसके पश्चात उन्होंने कहा कि विद्यालय कोई इमारत नहीं होती है, बल्कि विद्यालय तो छात्रों से बनता है।

केजी सिंह ने कहा कि सीखने के लिए कोई जगह की आवश्यकता नहीं। अगर सीखने की लगन है तो आप कहीं भी और किसी भी वक्त सीख सकते हैं। इसके पश्चात डॉक्टर अनिल त्रिपाठी द्वारा लिखित आर्यकुल गीत प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में आये मुख्य अतिथि अतरौली जिला पंचायत सदस्य उमा सिंह ने कहा कि आर्यकुल के मैनेजिंग डायरेक्टर सशक्त सिंह बधाई के पात्र हैं, क्योंकि उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में एक ऐसी मिसाल कायम की है जो आने वाली पीढ़ियों को शिक्षित करेगी।

 
डायरेक्टर महिला सामाख्या डॉ। स्मृति सिंह ने कहा कि शिक्षा संस्थान ही एक ऐसी जगह होती है जो समाज और घर में परिवर्तन लाती है। शिक्षा के महत्व को आगे बताते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा को आर्थिक जरिया न बनाकर देश की उन्नति के लिए शिक्षा ग्रहण करें और समाज में परिवर्तन लायें।


इसके पश्चात सोशल एक्टिविस्ट प्रवीन सिंह ने कहा कि गाँव में कॉलेज को चलाना बहुत कठिन कार्य है। बावजूद इसके आर्यकुल ने इस कार्य के प्रति अपना कदम बढ़ाया है इसलिए हम इसकी सराहना करते हैं।
इसके बाद युवा किसान यशवर्धन सिंह ने नये छात्र- छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि डिग्री एक माध्यम होती है व्यक्ति को आगे बढ़ाने के लिए, लेकिन व्यावहारिक शिक्षा का ज्ञान बहुत जरूरी है।


इसके बाद कॉलेज के प्रबंध निदेशक सशक्त सिंह द्वारा नये छात्र छात्राओं को कॉलेज के अनुशासन सम्बन्धी नियमों के बारे में जानकारी दी गई , साथ ही नए विद्यार्थियों  से ये भी कहा गया कि आप से कॉलेज या हॉस्टल  में कोई  रैगिंग करने की या परेशान करने  कोशिश करे तो आप मुझसे सीधे संपर्क कर सकते हैं।  उन्होंने कहा कि कॉलेज प्रशासन उनके साथ हर कदम पर खड़ा है।
इसी क्रम में कॉलेज में आये अतरौली थाने के एसओ पुष्पेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि मेरे कन्धों पर सुरक्षा कि जिम्मेदारी है, अगर कभी सुरक्षा की जरूरत हुई तो हम आपकी सेवा में हमेशा हाजिर हैं। 
आर्यकुल  कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी एंड रिसर्च सीतापुर में 'नवागमन-2019' कार्यक्रम में जिला पंचायत सदस्य अतरौली उमाशंकर समेत, पंडित दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज के प्रिंसिपल नरेन्द्र प्रसाद तिवारी, प्रधान अम्बरपुर कृपाशंकर, प्रधान खेरवा शत्रुघन जी, प्रगतिशील किसान अलाईपुर एके सिंह, किसान सुरैचा यशवर्धन सिंह , प्रगतिशील किसान नीलगाँव विष्णु कुमार सिंह मौजूद रहे।
इस नवागमन कार्यक्रम का समाप कॉलेज के रजिस्ट्रार सुदेश तिवारी ने बच्चों को बधाई सन्देश देकर किया। कर्यक्रम में कॉलेज के स्टूडेंट फेडरेशन की वाइस प्रेसिडेंट शिखा सिंह और सभी ऑफिस बेयरर्स से परिचय भी कराया गया। 
 ये ओरिएंटेशन प्रोग्राम नए छात्र-छात्राओं के लिए आयोजन किया गया था। इस ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन छात्र-छात्राओं को  कॉलेज के माहौल से अवगत करना,साथ ही कॉलेज की सम्पूर्ण संरचना एवं पाठ्यक्रम से रूबरू करना था। इस ओरिएंटेशन प्रोग्राम के दौरान नए  विद्यार्थियों को सस्था में उपलब्ध  पुस्तकालय,  कम्प्यूटर सेंटर, जैसी सुविधाओं के बारे में बताया गया ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments