शान से निकला बारह रबीउलअव्वल का जुलूस।

शान से निकला बारह रबीउलअव्वल का जुलूस।

जुलूस में देखने को मिली गंगा जमुनी तहज़ीब।

हिदू समुदाय के लोगों ने भी की जुलूस में शिरकत

भारत का बुलंदी पर सितारा हो या रसूल

 

बिलग्राम हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिवस पर बिलग्राम नगर के सभी मोहल्लों से मैदानपुरा में एक जगह एकत्रित होकर पूरे नगर में जुलूस निकाला गया जिसमें हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए बताते चलें इस्लामी वर्ष के  मुताबिक 12 रबीउल अव्वल को हजरत मोहम्मद साहब का जन्म अरब के मशहूर शहर मक्का में हुआ था आपके पिता का नाम अब्दुल्ला और माता का नाम आमना था आप के पैदा होने के कुछ ही दिनों बाद माता पिता का साया आपके सर से उठ गया और आपको दाई हलीमा ने पाला और दूध पिलाया आपके पैदा होने से पहले

अरब में बहुत ही जुल्मों सितम हुआ करते थे और कुप्रथाओं का दौर था लड़कियों के पैदा होते ही उन्हें जिंदा दफन कर दिया करते थे आप के पैदा होने के बाद ऐसी कई कुप्रथाओं पर अंकुश लगाया और अदलो इंसाफ की ऐसी नजीर पेश की जो पूरी दुनिया में लोगों के लिए मिसाल बन गई इसीलिए पूरी दुनिया के मुसलमान इस दिन को बड़ी खुशी के साथ मनाते हैं बिलग्राम में भी इस मौके पर कई दिनों पहले से तैयारियां करके जुलूस निकालते हैं

  बुधवार सुबह जुलूस मोहल्ला काजी पुरा  नजमुल मास्टर के यहां से चलकर मैदान पूरा में हजरत उवैस मुस्तफा वास्ती के जुलूस में शामिल हुए और फिर मोहल्ला हैदराबाद व  ऊपरकोट सैय्यद वाड़ा  होते हुए बड़ा चौराहा पहुंचा जहाँ हजरत मौलाना उवैस मुस्तफ़ा वास्ती ने लोगों को संवोधित किया और कहा कि

भारत  के मुसलमानों का ये नारा है या रसूल

भारत का बुलंदी पर सितारा हो या रसूल

 

धर्म गुरू को सुनने के लिए हजारों की तादात में लोग मौजूद रहे इस जुलूस में उवैस  मुस्तफा वास्ती व उनके बड़े भाई सय्यद बादशाह हुसैन वास्ती ने जुलूस में आये लोगों को संबोधित किया और मोहम्मद साहब का पैगाम लोगों तक पहुंचाया जिसके बाद पीपल चौराहे की तरफ जुलूस ने रुख किया और हर मोहल्लों के लोग अपने अपने यहां मिलते गए और जुलूस में भीड़ बढ़ती गई और पीपल चौराहा तक पहुंचते ही जुलूस में शामिल लोग अपने घरों के लिये निकलने लगे इस तरह मोहल्ला मलकंठ तक जुलूस में शामिल लोग

अपने-अपने घरों तक पहुंचे आखरी जुलूस मैदानपूरा दरगाह पर पहुँच कर समाप्त हुआ इस जुलूस में शामिल रहे मोअज्जिज लोगों में खानकाहे वाहिदिया के सज्जादा नशीन सोहेल मियां व उनके भाई वाहदिया तय्यविया के हुसैन मियां,

फैजान मिया ,वाजिद हुसैन ,समाजवादी के प्रदेश सचिव अफसर अली भी अपनी पूरी टीम के साथ रहे वही चेयरमैन हबीब अहमद के प्रतिनिधि सईद अहमद सभासद ,फरीद अहमद,के साथ जुलूस के आगे आगे चलते दिखाई दिये प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद रहा जिस्में उपजिलाधिकारी राम विलास यादव सीओ शिव राम कुशवाहा कोतवाल अमरजीत सिंह जुलूस के साथ मौजूद रहे।

Comments