निराश्रित गोवंश योजना में भरण  पोषण किये जाने  वाले गोवंश पालक  को प्रतिदिन के हिसाब से 30 रू0 प्रति पशु देने का प्रावधान

निराश्रित गोवंश योजना में भरण  पोषण किये जाने  वाले गोवंश पालक  को प्रतिदिन के हिसाब से 30 रू0 प्रति पशु देने का प्रावधान

शाहजहांपुर/ जिलाधिकारी श्री इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में किसान दिवस की बैठक विकास भवन सभागार में  आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने उपस्थित  कृषक भाईयों को  प्रदेष के  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा चालू की गई निराश्रित  गोवंश योजना की जानकारी देते हुए सहभागिता  की अपील की। जिसके अन्तर्गत निराश्रित गोवंश को पूर्ण रूप से भरण पोषण किये जाने  वाले गोवंश पालक  को प्रतिदिन के हिसाब से 30 रू0 दिये जाने का प्राविधान किया गया है।

उन्होंने बताया कि जिला  प्रशासन द्वारा स्थापित एवं संचालित अस्थायी, स्थायी  गोवंश संरक्षण केन्द्रों के माध्यम से टैगिंग की गयी  गोवंश को आम व्यक्ति एवं कृषको  को सुपुर्द किया जायेगा। चिन्हित पशुपालक सुपुर्द किये गये  गोवंश को किसी भी  दशा में विक्रय नहीं करेगा और न ही छुट्टा छोड़ेगा। इच्छुक पशु पालक व अन्य व्यक्तियों को विकास खण्ड स्तरीय समिति की संस्तुति के क्रम में जनपद स्तरीय समिति के अनुमोदनोपरान्त ही गोवंश को सुपुर्द किया जायेगा। 

बैठक में किसान भाईयों द्वारा बताया गया कि विद्युत विभाग के अधिकारियों को उनके सरकारी नम्बर पर काॅल करने पर भी काॅल नहीं रिसीव की जाती है और न ही 1912 हेल्पलाइन नम्बर पर समस्या का निस्तारण किया जाता है। 24 घंटे के अन्दर ट्रांसफार्मर बदले जाने का प्राविधान है। ट्रिपिंग, झुके पोल और न ही शासन की  मंशा के अनुरूप विद्युत की आपूर्ति की जा रही है। जिस पर जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को कड़े निर्देष देते हुए कहा कि विद्युत से सम्बन्धित समस्त प्रकार की समस्याओं का समाधान जल्द से जल्द किया जाए, अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। 

किसान भाईयों द्वारा बताया गया कि किसान क्रेडिट कार्ड के बनाये जाने के प्रकरण लम्बित पड़े हैं। धान, खाद कृषि यंत्र खरीदने पर मिलने वाली सब्सिडी अभी तक नहीं मिली है। यूरिया खाद्य के लिए काफी संकटों का सामना करना पड़ रहा है। साघन सहकारी समिति के सचिव अपने कार्यालय में नहीं बैठते हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देष दिये कि किसान क्रेडिट कार्ड के लम्बित प्रकरणों का निस्तारण जल्द से जल्द किया जाए। प्रत्येक साप्ताह प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। किसान भाईयों को मिलने वाली सब्सिडी का निस्तारण जल्द से जल्द किया जाए। उन्होंने कहा कि अब मत्स्य एवं पशुपालक किसानों को के0के0सी0 योजना से पात्र किसानों को लाभान्वित किया जाएगा। जिसके सम्बन्ध में उन्होंने कैम्प के माध्यम से किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ दिलाने के  निर्देश सम्बन्धित अधिकारी को दिये। उन्होंने साघन सहकारी समिति के सचिव को कार्यालय में न बैठने के सम्बन्ध में  निर्देश दिये कि समस्त सचिव अपने कार्यालय में उपस्थित रहें। जिन सचिवों का सम्द्धीकरण है वह सचिव रोस्टर के हिसाब से कार्यालयों में उपस्थित रहें। अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी।बैठक में पुलिस अधीक्षक, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, जिला कृषि अधिकारी सहित अन्य अधिकारीगण व किसान भाई उपस्थि


 

Comments