जिलाधिकारी ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में निर्माण कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश

जिलाधिकारी ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में निर्माण कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश

 

  • बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 

01 सितम्बर से प्रारम्भ हो रहा है। स्वच्छता की रैकिंग में जनपद को प्रदेश में नम्बर वन लाने के लिए जिलाधिकारी ने स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण में अंक बढ़ाने हेतु अधिकारियों को 15 बिन्दुओं पर टिप्स दिये। उन्होंने कहा कि इसका माइक्रोप्लान जल्द से जल्द तैयार कर ग्राम पंचायत सचिवों को साफ-सफाई रखने हेतु निर्धारित लक्ष्य दिया जाए।

 
उन्होंने निराश्रित गोवंष की समीक्षा करते हुए कहा कि बीमार गायों को निकट के पशु चिकिल्सालय में भेजा जाए। जब तक गायों का स्वास्थ्य ठीक न हो जाए तब तक उन्हें हाॅस्पिटल में ही रखा जाए। बीमार गायों की देख-रेख ठीक  ढंग से की जाए। एस0डी0एम0, नगर आयुक्त, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी समय समय पर  गौशाला का औचक निरीक्षण करें। पशु चिकित्साधिकारी बीमार गायों को हाॅस्पिटल में भर्ती कराने का कार्य करेंगे। बीमार गायों की सुरक्षा व्यवस्था में किसी प्रकार की खामी संज्ञान में आयी तो सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने निराश्रित, बेसहारा गोवंष सहभागिता योजना लागू की है।

जिसके अन्तर्गत इच्छुक पशुपालकों को चिन्हित करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारी को दिये। उन्होंने कहा कि इस योजना के अन्तर्गत इच्छुक पशुपालकों को गौशालाओं से टैगिंग की गयी हुई गायों को दिया जाएगा। पशुपालकों को गोवंश के भरण पोषण हेतु 30 रूपये प्रति दिन प्रति गोवंश के भरण पोषण हेतु धनराशि सम्बन्धित पशुपालक के बैंक खाते में प्रतिमाह डी0बी0टी0 प्रक्रिया द्वारा हस्तांतरित की जाएगी। पशुपालक को सुपुर्द किये गये गोवंश को किसी भी दशा में विक्रय नहीं करेंगे। 

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रायः देखा जा रहा है कि प्रतिबन्धित पाॅलीथिन पर अधिकारियों द्वारा कोई भी कार्यवाही नहीं की जा रही है। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देष दिये कि प्रतिबन्धित पाॅलीथिन पर तत्काल कार्यवाही की जाए, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता संज्ञान में आयी तो सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि किसान सम्मान निधि योजना को गति दी जाए। जिन किसान भाईयों को इस योजना से अभी नहीं जोड़ा गया है उन पात्र किसानों को जल्द से जल्द योजना से लाभान्वित किया जाए। उन्होंने किसान क्रेडिट कार्ड योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि छूटे हुए पात्र किसानों को चिन्हित कर इस योजना का लाभ जल्द से जल्द दिया जाए।

श्री इन्द्र विक्रम सिंह ने आयुष्मान भारत योजना के सम्बन्ध में कहा कि जिन पात्रा लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड नहीं बने है, उन लाभार्थियों को चिन्हित कर कैम्प लगाकर योजना से लाभान्वित किया जाए। उन्होंने सौभाग्य योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष पात्र लाभार्थियों को योजना का लाभ दिया जाए। उन्होंने स्वच्छता गृही भुगतान न किये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देष दिये कि स्वच्छता गृहियों का भुगतान तत्काल किया जाए, अन्यथा की स्थिति में वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। वृक्षारोपण के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देष दिये कि जिन सम्बन्धित विभाग द्वारा वृक्ष रोपित किये हैं, वह वृक्षों की सुरक्षा व्यवस्था देखें और सूखे हुए वृक्षों के स्थान पर दूसरा वृक्ष रोपित करें। उन्होंने मुख्यमंत्री जी द्वारा की गयी घोषणा के निर्माण कार्यों में गति लाने के निर्देष सम्बन्धित अधिकारियों को दिये और कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा घोषणाओं के निर्माण कार्यों की समीक्षा प्रत्येक माह की जाएगी। 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री महेन्द्र सिंह तंवर, नगर आयुक्त श्री विद्याषंकर, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 आर0पी0रावत, अपर पुलिस अधीक्षक श्री दिनेष त्रिपाठी सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे

Comments