घोषणापत्र ना जमा करने वाले किसानों को अगले सत्र से नहीं मिलेंगी गन्ना पर्ची

घोषणापत्र ना जमा करने वाले किसानों को अगले सत्र से नहीं मिलेंगी गन्ना पर्ची

शाहजहांपुर जिला गन्ना अधिकारी ने बताया कि कृषकों के द्वारा घोषणा पत्र भरने के लिये अब मात्र 25 दिन शेष बचे हैं। इसी को देखते हुए  गन्ना विकास समितियों पर घोषणा पत्र भरने के लिये किसानों की भीड़ उमड़ रही है। प्रतिदिन सैकडों की संख्या में किसान अपने राजस्व अभिलेख सहित घोषणा पत्र जमा कर रहे है।

30 सितम्बर 2019 तक सभी 1.50 लाख कृषकों के अभिलेखों की जाँच, कृषि योग्य भूमि, गन्ना क्षेत्रफल, बैंक खाता संख्या, मोबाईल नम्बर, आधार नम्बर आदि का मिलान किया जाएगा। गन्ना समिति पुवायाँ रौजा एवं चीनी मिल समिति तिलहर में यह कार्य किया जा रहा है। अभी तक 1.25 लाख किसानों ही घोषणा पत्र जमा किये हैं। जो किसान 30 सितम्बर तक घोषणा पत्र जमा नहीं करेगें उनको गन्ना समिति से उनका सट्टा बन्द करने हेतु नोटिस जारी किया जायेगा तथा घोषणा पत्र नही देगें उनको आगामी पेराई सत्र में पर्ची जारी नहीं होगी। 
      अब तक 1.40 लाख किसानों के रिकार्ड मिलान कर लिये गये है। शेष का मिलान 2 दिवस में करने के निर्देष सभी ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षकों को दिये गये हैं। ऐसे कृषक जिन्होंने पहली बार गन्ना बोया है वह 30 सितम्बर 2019 तक सदस्यता शुल्क 221 रू0 जमाकर सदस्य अवष्य बन जाये, जिससे उनका सट्टा समय से संचालित हो सके। इसके अतिरिक्त जिन्हें वारिस मेम्बर बनना है वह 30 सितम्बर 2019 तक वारिस मेम्बर बनने के लिये सचिव, गन्ना समिति से सम्पर्क कर लें।

साथ में 3 फोटो, खतौनी की नकल, जमीन का हिस्सा प्रमाण पत्र भी दे दें। समिति स्तर पर मिलान करने के बाद 15 सितम्बर 2019 तक किसानों को कच्चा कैलेन्डर (प्री0कलैन्डर) बाँट दिया जायेगा। इसके बाद 15-30 सितम्बर के बीच समिति स्तर पर सट्टा प्रदर्षन मेले का आयोजन किया जायेगा। जिसमें किसानों को  अंतिम रूप से आपत्ति दर्ज कराने का मौका दिया जायेगा, इसके बाद कोई आपत्ति मान्य नहीं होगी।

 

 

--

Comments