जयंती पर याद किए गए क्रांतिकारी शहीद सरदार भगत सिंह

जयंती पर याद किए गए क्रांतिकारी शहीद सरदार भगत सिंह

शाहजहांपुर/ अल्हागंज-28 सितबंर 2019. क्रांतिकारी  जन संघर्ष मोर्चा ने शहीद सरदार भगत सिंह की जयंती शनिवार को नगर पंचायत कार्यालय पर धूमधाम से मनाई गई। देश को आजादी दिलाने के लिए किए गए उनके योगदान को याद किया।
जयंती समारोह कार्यक्रम में भाजपा जिला महामंत्री अनिल गुप्ता, चेयरमैन राजेश वर्मा, मुख्य वक्ता क्रान्तिकारी जन संघर्ष मोर्चा के सदस्य अमित वाजपेयी ने शहीद भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया। अपने संबोधन में  गुप्ता ने  कहा कि भगत सिंह ने देश की आजादी के लिए जो क्रांति देश में खड़ी की वह आज भी प्रासंगिक है।   वाजपेयी  बोले  शहीदे आजम भगत सिंह महान क्रांतिकारी, देशभक्त, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। इनका जन्म पंजाब के लायलपुर के बंगा गांव में 27 सितंबर 1907 को हुआ था। जन्म के समय पिता किशन सिंह एवं चाचा जेल में बंद थे। माता विद्यावती कौर थीं।

पूरा परिवार ही देश भक्त थ। इनके बचपन का नाम वीरा था। जब ये 12 वर्ष के थे तब इन्हें स्कूल में 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग हत्याकांड का पता चला और पैदल ही 12 मील चल कर जलियांवाला बाग पहुंचे। देर रात जब घर पहुंचे तो मां और बहन ने पूछा कि वीरा कहां था। जब भगत सिंह ने खून से सनी मिट्टी से खुद को तिलक कर देश को आजाद कराने की सौगंध खायी। देश को आजादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 23 मार्च 1931 को क्रांतिकारी सरदार भगत सिंह के साथ सुखदेव और राजगुरु को फांसी दे दी गई।

अध्यक्षता संगठन के जिला उपाध्यक्ष अरूण कुमार ने की व  संचालन अम्बुज शुक्ला ने किया मौके पर मौजूूूद भानू  प्रकाश, अंकित शुक्ला, डा०विमल राठौर, पंकज मिश्रा, गोविंद मिश्रा, चदेश्वर राठौर, श्रीपाल, दुर्गेश सक्सेना, मुजफ्फर अली ,राज मिश्रा ,इलियास अली, विनोद राठौर, रमेश श्री वास्तव, भोला कश्यप, विनय, दिलीप कुमार, सच्चिदानंद शर्मा, रोशनलाल, अनिल कुमार शर्मा, जगदीश चंद्र, प्रेमचंद्र वार्ष्णेय, ब्रजेंद्र चंद्र गौड़ आदि लोगो ने माल्यार्पण कर नमन किया। अंंत मेे श्री शर्मा ने सभी को जलपान कराया और सभी का आभार व्यक्त किया।

Comments