दलदल से गुजरने को मजबूर हैं विकासखंड बंडा की  ग्राम पंचायत  राय टांडा का मजरा बैबहा

 दलदल से गुजरने को मजबूर हैं विकासखंड बंडा की  ग्राम पंचायत  राय टांडा का मजरा बैबहा
  • कई बार की जा चुकी है कार्रवाई  फिर डीएम को सौंपा ज्ञापन

बंडा/शाहजहांपुर

शाहजहांपुर जिले के विकासखंड बंडा  की ग्राम पंचायत रायटांडा  के मजरा बैबहा निवासी आज भी सरकार की योजनाओं से वंचितनजर आ रहे  हैं।  योगी  सरकार भले ही योजनाओं का लाभ गरीबों तक पहुंचाने के लिए हर संभव  प्रचार प्रसार में अरबों रुपया खर्च कर रही हो ।

लेकिन भ्रष्ट कर्मचारियों की वजह से योजनाओं का लाभ गरीबों तक नहीं पहुंच पा रहा है ।बात करते हैं ।रायटांडा की  ग्राम पंचायत के मजरा बैबहा की यहां लगभग 1100 की आबादी वाले दलितो की बस्ती है।

इस गांव के अन्दर गलियों व बाहर के मेन रास्ते पर गंदा पानी कीचङ भरा है । यहां से निकलने वाले राहगीर बा स्कूली बच्चे इस गंदे पानी व कीचड़ में आए दिन गिर जाते हैं और चोटिल हो जाते हैं। इस गांव के लोग किस तरह गुजर -बसर कर रहे हैं ।

इस मजरे की सुध आज तक जिला प्रशासन एवं योगी सरकार के गङमान्न लोगो ने नहीं ली। यहां अगर देखा जाए तो रास्ते भी ठीक ढंग से नहीं बने हैं। कच्ची गलियां जवाब दे रही हैं। और प्रशासन की नजर अभी यहां तक नहीं पहुंची है ।

यहां सरकार की हर मजरे तक बिजली व्यवस्था पहुंचाने की योजना भी नजर  नहीं आ रही है। सरकार की गरीबों के लिए चलाई गई।  आयुष्मान योजना का कार्ड मोहल्ले में किसी भी व्यक्ति का नहीं बना है। अगर शौचालय की बात की जाए तो बैबहा गांव में खुले में शौच मुक्त कर दिया  गया है। लेकिन यहां किसी का व्यक्तिगत या सरकारी शौचालय नही बने है ।पूरा मोहल्ला खुले में शौच को जाता है अगर बात प्रधानमंत्री आवास योजना  की जाए तो यहां कुछ ही आवास किसी बने है ।

पूरे मंजरे में कुछ ही  व्यक्ति का लिंटर पड़ा है।और  सारे झोपड़ियों में गुजर-बसर कर रहे हैं इतना कहने के लिए काफी है ग्रामीणों ने हकीकत कुछ यूं बयां कर रही है ।

आलम यह है सबसे ज्यादा रास्ते को लेकर परेशानियों का सामना करना पङ रहा है ।इस सम्बन्ध में गांव के लोग कई बार के दफ्तरों के चक्कर लगा चुके लेकिन अधिकारियों द्वारा भी कोई ध्यान नहीं दिया गया है ।

बैबहा गांव के लोगो ने दूसरी बार जिलाधिकारी को भेजे शिकायत पत्र में जांच करा कर गांव में विकास कराये जाने की मांग की है ।

 

Comments