रोजा गल्ला मंडी में धान खरीद सेंटरों पर बगैर कमीशन नहीं होती है कृषकों से धान की खरीद

रोजा गल्ला मंडी में धान खरीद सेंटरों पर बगैर कमीशन नहीं होती है कृषकों से धान की खरीद

शाहजहांपुर

रोजा  मंडी में लगे लगभग सभी धान खरीद केंद्रों  की लगातार शिकायतें सामने आ रही हैं कृषकों के मुताबिक धान खरीद  सेंटर प्रभारी  मनमानी के चलते  उनका धान  ना खरीद कर बिचौलियों से धान खरीद रहे हैं रामापुर नानकारी के कृषक ने  जब सेंटर पर  उसका धान नहीं तौला गया

और केंद्र प्रभारी द्वारा प्रति कुंटल के हिसाब से उससे कमीशन मांगा गया  तो उसने  जिला पंचायत अध्यक्ष  अजय प्रताप सिंह के प्रतिनिधि राहुल गौतम को फोन पर पूरी जानकारी दी  इतने में राहुल गौतम भी  शिकायत पाकर मौके पर पहुंच गए  और उनकी  केंद्र प्रभारी से हाट टाक हो गई

उन्होंने रोज़ा मंडी में जिले के डिप्टी  आरम को फोन पर पूरी जानकारी दी सूचना मिलते ही मौके पर डिप्टी आरम अविनाश चंद मौके पर पहुंचे जिनके सामने कृषक ने प्रभारी द्वारा कमीशन मांगने  की बात रखी हैं जिस पर प्रभारी को कड़ी फटकार भी लगाई गई लेकिन अभी तक केंद्र प्रभारी पर कार्रवाई नहीं की गई है

यह एक मिलीभगत के तरफ इशारा कर रहा है अगर यही स्थिति रही और सारे अधिकारी मिलकर प्रभारियों का साथ देते रहे तो कृषकों का धान  खरीदा जाना असंभव है जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि राहुल गौतम ने बताया  केंद्र प्रभारी सरकार की  आंख में धूल झोंक रहे हैं

और खुद अपने दलाल लगाकर अपना धान सही दामों में सरकार को सप्लाई कर रहे हैं जिस कारण कृषक अपना धान बिचौलियों के हाथ बेचने को मजबूर है    उन्होंने बताया सबसे ज्यादा  पीसी एफ के सेंटर प्रभारी तथा वहां के ठेकेदार मिलकर खूब अंधाधुंध मनमानी कर रहे हैं

जांच के दौरान एक कृषक ने डिप्टी आराम से प्रति कुंटल कमीशन लेने की शिकायत की   अधिकारी को शिकायत कर बताया जिसका वीडियो भी रिकॉर्ड किया गया जिसमें रोजा मंडी  एक सेंट्रल प्रभारी पर डिप्टी आरएमओ  ने कार्यवाही करने का आश्वासन दिया

लेकिन वहां के पीसी एप के सेंटर प्रभारी अबजीत कुमार व ठेकेदार अमित सिंह पर कोई कार्यवाही नहीं हुई जिससे अब भी वहां पर मनमानी कर रहे हैं जिससे वहां पर किसानों को बहुत परेशान किया जाता है अगर किसान वहां पर जाते हैं तो अमित सिंह उनसे कहते हैं कि मेरे पास लेबर नहीं है अपना धान कहीं और ले जाओ ऐसा कहकर लगातार   टालमटोल करते रहते हैं  लगातार सेंटर प्रभारियों की अपडेट पाने के लिए पढ़ते रहे स्वतंत्र  प्रभात

Comments