किसान दिवस पर  विकास भवन सभागार में बैठक आयोजित

किसान दिवस पर  विकास भवन सभागार में बैठक आयोजित

शाहजहांपुर/जिलाधिकारी  इन्द्र विक्रम सिंह के निर्देश में मुख्य विकास अधिकारी  महेन्द्र सिंह तंवर की अध्यक्षता में किसान दिवस की बैठक विकास भवन सभागार में  आयोजित की गयी।इस मौके पर किसान भाईयों द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत गलत फीडिंग होने के कारण कुछ किसान पात्र लाभार्थियों की  किस्ते रूकी पड़ी हैं जिससे योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिये कि जिन पात्र किसानों की किष्तें रूकी पड़ी हैं

उन किसानों का पुनः सत्यापन कर योजना से लाभान्वित किया जाना सुनिष्चित किया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि ब्लाॅक स्तर पर कर्मचारी लगाकर किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों की समस्याओं का निस्तारण किया जाए तथा जिन पात्र किसानों को योजना से नहीं जोड़ा गया है उन पात्र किसानों को भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से जाड़ा जाए।

किसान भाईयों द्वारा बताया गया कि मकसूदापुर चीनी मिल की भुगतान स्थिति बहुत ही खराब है। अभी तक लगभग 50 प्रतिशत ही भुगतान हो पाया है। किसान भाईयों द्वारा यह भी बताया गया कि अगर चीनी मिल द्वारा गन्ना किसानों का समय से भुगतान नहीं कर पा रहे हैं तो उसके स्थान पर चीनी देने की व्यवस्था की जाए। जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने जिला गन्ना अधिकारी को निर्देश दिये कि विलम्ब से गन्ना किसानों को भुगतान करने वाले चीनी मिलों से कारण स्पष्ट करने को कहा तथा गन्ना भुगतान समय से न कर पाने के स्थान पर चीनी देने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी से विचार विमर्श करने के उपरान्त ही अग्रिम कार्यवाही की जाएगी।

किसान भाईयों द्वारा विद्युत के सम्बन्ध में बताया गया कि विद्युत विभाग के  अधिकारी समय से समस्या का निस्तारण नहीं करते हैं। जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसान भाईयों की प्रत्येक दशा में समय से समस्या का निस्तारण करें। अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि वन विभाग के अन्तर्गत केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संयुक्त रूप से राष्ट्रीय बाँस मिशन योजना लागू की गयी है। जिसके अन्तर्गत किसान भाईयों को मुफ्त में पेड़ दिए जायेंगे और साथ ही पेड़ लगाने में जो खर्चा होगा

उसमें भी सहयोग किया जाएगा तथा पेड़ों की मार्केटिंग कराने में वन विभाग द्वारा मदद की जाएगी। बाँस की खेती करने वाले इच्छुक किसान योजना का लाभ उठाने के सम्बन्ध में बात कही।इस अवसर पर जिला कृषि अधिकारी, जिला गन्ना अधिकारी, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे

 

 

Comments