जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में आमने सामने जमकर हुई अंधाधुंध भारी फायरिंग

जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में आमने सामने जमकर हुई अंधाधुंध भारी फायरिंग

नरेश गुप्ता/ दिनेश मिश्रा की रिपोर्ट

जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में आमने सामने जमकर हुई अंधाधुंध भारी फायरिंग


गंगा की कटरी गोलियों की आवाज से थर्राई
सीओ के नेतृत्व में तीन थानों का भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा


 ग्राम प्रधान समेत दोनों पक्षों के16 लोगों को नाजायज असलहे के साथ किया गिरफ्तार 


हत्या का प्रयास एवं 7  क्रिमिनल लाॅ समेत कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज
पुलिस की तत्परता से नहीं हो सकी कोई  बड़ी घटना 
किसी के हताहत होने की खबर नहीं


कलान (शाहजहांपुर)


 थाना कलान क्षेत्र के गंगा की कटरी मे जमीनी विवाद को लेकर जहानाबाद खमरिया के प्रधान जयवीर कश्यप उर्फ अजयवीर अपने पक्ष के लोगों को साथ ट्रैक्टर समेत  विवादित जमीन पर गेहूं बोने पहुंच गया ।जिसका  पड़ोस के गांव शहजादे नगला निवासी साधु उर्फ राजेंद्र पुत्र चंद्रपाल ठाकुर के पक्ष ने विरोध किया।

कहासुनी बढ़ने पर दोनों पक्ष आमने सामने होकर नाजायज़ असलहों  से  एक दूसरे पर फायरिंग करने लगे। जिसकी सूचना कलान पुलिस को दी गई। कलान पुलिस ने तत्काल मामले को गंभीरता से लेते हुए सूचना उच्च अधिकारियों को दी। जिस पर क्षेत्राधिकारी जलालाबाद ब्रह्मपाल सिंह कलान परौर मिर्जापुर थाना प्रभारियों के साथ भारी  पुलिस फोर्स  लेकर घटनास्थल पर आनन-फानन में पहुंचे और नदी का पानी उतर कर प्रधान अजयवीर के ट्रैक्टर समेत दोनों पक्षों के 16 लोगों को गिरफ्तार कर थाने ले आये।

पकड़े गए लोगों में से राजीव पुत्र रामऔतार कश्यप से 315 बोर पौनिया एवं कारतूस तथा साधु उर्फ राजेंद्र पुत्र चंद्रपाल ठाकुर से 12 बोर का तमंचा कारतूस बरामद किया है।
प्रधान पक्ष के ग्राम प्रधान जहानाबाद खमरिया  जयवीर उर्फ अजयवीर कश्यप एवं उसका भतीजा राजीव पुत्र रामऔतार वीरपाल पुत्र महाराम रामभजन अवधेश पुत्रगण रामलडैते ओवेन्द्र पुत्र रामकिशन ,अखिलेश पुत्र  रक्षपाल ,अवनीश पुत्र ऋषिपाल विलासाराम पुत्र मदनपाल,अगनपाल पुत्रगण  मंगेलाल,राम मोहन पुत्र विजराम आदि एवं साधु उर्फ राजेंद्र ,नरवीर पुत्रगण चंद्रपाल  ठाकुर ,चंद्रपाल उर्फ कल्लू ,धर्मवीर ,गजेंद्र सुखवीर ,पंकज राजू उर्फ राजकुमार ,राहुल पुत्र सुरेश, संजीव पुत्र रविन्द्र आदि लोगों के विरुद्ध प्रभारी निरीक्षक की तरफ से धारा 307 147 148 149 34 आईपीसी तथा 7 लाॅ किर्मिनल एक्ट तथा आर्म्स एक्ट समेत कई संगीन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है ।


 वहीं दूसरी तरफ साधू उर्फ राजेंद्र के पक्ष का आरोप है कि प्रधान  पक्ष के लोगों ने उनकी महिलाओं के साथ अभद्रता की और उन्हें मारपीट कर घायल कर दिया।
 इस पूरे मामले में दोनों पक्षों की तरफ से कोई भी व्यक्ति जख्मी नहीं हुआ है। कुल मिलाकर इस मामले में पुलिस की तत्परता के चलते कोई भरी घटना नहीं हो पायी ।

Comments