सरकार के तहसील दिवस एवं थाना दिवस छलावा खबर का डीएम ने लिया संज्ञान लेखपाल को फटकार लगा कर दिए स्पष्टीकरण के निर्देश

सरकार के तहसील दिवस एवं थाना दिवस छलावा  खबर का डीएम ने लिया संज्ञान लेखपाल को फटकार लगा कर दिए स्पष्टीकरण के निर्देश

शाहजहांपुर.  जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने स्वतंत्र प्रभात समाचार पत्र में प्रकाशित खबर सरकार के तहसील दिवस एवं थाना दिवस सिर्फ छलावा पांच बार प्रार्थना पत्र के बावजूद पीड़ित को नहीं मिला न्याय खबर का संज्ञान लेते हुए आज  थाना समाधान दिवस में  सहजादपुर क्षेत्रीय लेखपाल की कड़ी फटकार लगाते हुए समय से शिकायत का निस्तारण ना होने का स्पष्टीकरण मांगा. 

थाना रोजा समाधान दिवस मेंं जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह एवं डाॅ0 शिवा  चनप्पा ने थाना रौजा एवं आरसी मिशन में समाधान थाना दिवस के अवसर पर फरियादियों की समस्याएॅ सुनीं। इस मौके पर थाना आरसी मिशन में 02 शिकायतें तथा रौजा में 03 शिकायते प्राप्त हुई।
जिलाधिकारी ने कहा कि फरियादियों द्वारा प्राप्त हुई शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण एवं समयावधि में किया जाए।

उन्होंने समाधान रजिस्टर, अपराध रजिस्टर, महिला उत्पीड़न रजिस्टर, त्यौहार रजिस्टर, अनु0जाति/अनु0जनजाति रजिस्टर आदि रजिस्टरों का अवलोकन किया। उन्होंने शिकायतों के निस्तारण के सम्बन्ध में अधिकारियों को निर्देशित किया कि फरियादियों की शिकायत का निस्तारण करते समय शिकायतकर्ता की संतुष्टि अवश्य ले लें।

जिलाधिकारी ने  शिकायत करता  की संतुष्टि जानने के लिए थाना रौजा में शिकायतकर्ता राजकपूर से फोन पर वार्ता कर शिकायत निस्तारण की संतुष्टि जानी। शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया कि निस्तारित शिकायत से वह संतुष्ट है।

जिलाधिकारी ने थाना रौजा में सर्वेश कुमार पुत्र इतवारीलाल निवासी  सहजादपुर के  प्रार्थना-पत्र दिनांक 1910.2019 का निस्तारण अभी तक न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित लेखपाल से स्पष्टीकरण देने के निर्देश सम्बन्धित को दिये। आपको बता  सर्वेश कुमार से संबंधित खबर स्वतंत्र प्रभात समाचार पत्र में प्रमुखता से प्रकाशित की गई थी  का संज्ञान  लेकर लेखपाल की फटकार लगाई
सिंह ने कहा कि तहसील दिवस में पुलिस से सम्बन्धित जो प्रकरण प्राप्त हो उन्हें थाना दिवस में  समय से निस्तारित करें। उन्होंने कहा कि प्रार्थना-पत्रों का निस्तारण विलम्ब से नहीं होना चाहिए। अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए विधिक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने लेखपालों को निर्देश दिये कि राजस्व के प्रकरणों को मौके पर जाकर  पुलिस का सहयोग लेकर निस्तारित करें।  
इसके उपरान्त जिलाधिकारी ने रौजा मण्डी का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने केन्द्र प्रभारियों को निर्देश दिये कि किसी भी किसान को केन्द्र से वापस न किया जाए। केन्द्र पर आए हुए किसान की धान खरीद की जाए।

किसानों की हर सम्भव मदद करें केन्द्र प्रभारी जिन किसानों का पंजीयन किसी कारणवश नहीं हो पाया है उन किसानों का पंजीयन कराकर धान की खरीद की जाए।
इस मौके पर अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

Comments