व्यावसायिक शिक्षकों को नहीं मिला है छः माह से मानदेय

व्यावसायिक शिक्षकों को नहीं मिला है छः माह से मानदेय

व्यावसायिक शिक्षकों को नहीं मिला है छः माह से मानदेय

संवाददाता नरेश गुप्ता

हरदोई।

दीपावली पर्व मनाने में सिर्फ चार दिन शेष रह गया है।प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षकों को छः माह से मानदेय नहीं मिला है। ऐसे में दीपावली को लेकर लोग एक तरफ तैयारी में जुटे हैं वहीं इसबार व्यावसायिक शिक्षकों का दीपावली पर्व फीका रहने की संभावना है। वजह व्यावसायिक शिक्षकों का छः माह से मानदेय का भुगतान नहीं मिला है।

इससे शिक्षकों के समक्ष आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है। स्थिति यह हो गई है कि अब किराना वाले भी उधार देने से कतराने लगे हैं। बच्चों की पढ़ाई का फीस जमा नहीं हो पा रहा है। जिले में हाई स्कूल एवं इंटरमीडिएट तक के कालेजों में व्यावसायिक शिक्षकों को दो केटोगरी में वेतन का भुगतान किया जाता है।

एक हाई स्कूल को पढ़ाने के लिए व दूसरा इंटरमीडिएट को पढ़ाने के लिए।माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पांडेय की मानें तो इन्हें दीपावली पूर्व मानदेय का भुगतान हो जाने की संभावना है। लेकिन व्यावसायिक शिक्षा मद से मानदेय पानेवाले शिक्षकों को भुगतान के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक के खाते में अभी तक धनराशि ही नहीं ट्रांसफर की गई है। जिससे अप्रैल माह से लेकर अभी तक के मानदेय का भुगतान बकाया है।

माध्यमिक व्यावसायिक शिक्षक संगठन के प्रदेश महामंत्री सर्वेश द्विवेदी  ने बताया कि प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षान्तर्गत करीब 2150 व्यावसायिक शिक्षक सेवारत हैं।जो छः माह से मानदेय से वंचित है। अब दीपावली पर्व सर पर है। ऐसे में व्यावसायिक शिक्षकों को चिंता सताने लगी है कि कहीं अन्य त्योहारों की तरह दीपावली का त्योहार भी बिना वेतन के फीका न पड़ जाए। श्री द्विवेदी ने बताया की छः माह से मानदेय के अभाव में शिक्षकों के समक्ष आर्थिक कठिनाई उत्पन्न हो गया है।इन शिक्षकों का दशहरा तो फीका रहा ही अब दीपावली पर्व पर भी कहीं खुशी काफूर न हो जाए ऐसी संभावना दिख रही है।माध्यमिक व्यावसायिक शिक्षक जागरूक मंच के जिलाध्यक्ष जनार्दन प्रसाद श्रीवास्तव ने माध्यमिक शिक्षा निदेशालय से शीघ्र ही व्यावसायिक शिक्षकों को मानदेय प्रदान करने की मांग की है।

Comments