सिधौली के मास्टर बाग क्षेत्र मे भारत गैस एजेंसी द्वारा उपभोक्ताओं को नहीं मिल रही रसोई गैस 

सिधौली के मास्टर बाग क्षेत्र मे भारत गैस एजेंसी द्वारा उपभोक्ताओं को नहीं मिल रही रसोई गैस 

जी हां ताजा मामला उत्तर प्रदेश के जनपद सीतापुर की तहसील के विकासखंड कसमंडा के मास्टर बाग क्षेत्र का है जहां रसोई गैस लेने के लिए उपभोक्ता हफ्तों तक लाइन लगाए रहते हैं किंतु उन्हें फिर भी खाली हाथ ही वापस जाना पड़ता है जहां एक तरफ उज्जवला योजना जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं चलाई जा रही हैं वहीं पर गैस एजेंसियों की मनमानी के चलते गरीब किसानों के सिलेंडर ब्लैक किए जाते हैं परिणाम स्वरूप गरीब और अनपढ़ किसान सिर्फ एजेंसी धारकों की बातों को मानने की शिवा कर भी क्या सकते हैं उपभोक्ताओं ने जानकारी देते हुए बताया कि वाह हफ्तों तक रसोई गैस के लिए भटकते रहते हैं

सिर्फ पुरुषों का ही नहीं महिलाओं को भी नहीं मिलती वरीयता मजबूरन ग्रहणी या अपने घरों में चूल्हे पर भोजन पकाने को हो रही मजबूर क्या भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही है उज्जवला योजना जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं कागजों पर ही चलेंगी या धरातल पर गैस एजेंसी ऐसी योजनाओं का पालन भी कर रहे हैं सूत्रों की मानें तो संबंधित गैस एजेंसी द्वारा उज्ज्वला योजना के तहत दिए गए गैस सिलेंडरों में पात्र ग्रहणी यों से धन उगाही भी की गई 5 से 600 ने थे देखना यह है क्या प्रशासन ऐसी गैस एजेंसियों के विरुद्ध कोई सख्त रवैया अपनाती है या पात्र कहानियां ऐसे ही रसोई गैस के लिए भटकती रहेंगी

अमित मिश्रा 

Comments